जियो ने वोडाफोन और आइडिया को दी चेतावनी

नई दिल्ली: रिलायंस जियो इन्फोकॉम ने वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्युलर पर आरोप लगाया है कि वह उसे पर्याप्त पॉइंट्स ऑफ इंटरकनेक्शन (POI) नहीं दे रही हैं और इस तरह नियमों का उल्लंघन कर रही हैं। जियो ने कहा है कि इसके कारण कॉल फेल होने के मामले सामने आ रहे हैं। उसने अपनी इन बड़ी प्रतिद्वंद्वियों को अंजाम भुगतने की चेतावनी भी दी है।

12 अक्टूबर को इन दोनों कंपनियों को अलग-अलग भेजे गए पत्रों में मुकेश अंबानी की जियो ने कहा कि वोडाफोन के नेटवर्क पर कॉल फेल होने की औसत दर 63 पर्सेंट और आइडिया सेल्युलर के नेटवर्क पर 44 पर्सेंट है। जियो ने कहा कि उसे पर्याप्त POI न दिए जाने के कारण ऐसा हो रहा है। जियो ने इन दोनों कंपनियों को यह चेतावनी भी दी है कि सर्विस क्वॉलिटी के नियमों के उल्लंघन के ‘हर नतीजे के लिए उन्हें जिम्मेदार माना जाएगा।’

12 अक्टूबर के लेटर में जियो ने दोनों कंपनियों से कहा है कि वह टेलीकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया के 7 अक्टूबर के निर्देश का पालन करें, जिसमें रेग्युलेटर ने सेवाओं की गुणवत्ता के बारे में अपने नियमों का पालन करने को इन कंपनियों से कहा था क्योंकि POI के मसले से कन्ज्यूमर्स के हितों पर असर पड़ रहा है। जियो ने लेटर में कहा, ‘कई लाइसेंस्ड सर्विस एरिया में पीक आवर्स में रिलायंस जियो इन्फोकॉम के मामले में कॉल करने की कोशिशों का प्रतिशत और POI कंजेशन अब भी ज्यादा है।’ जियो ने यह लेटर ट्राई और टेलीकॉम सेक्रटरी को भी भेजे हैं। जियो ने कहा है कि उसने अपने 5 करोड़ सब्सक्राइबर्स को सपोर्ट देने के लिए सितंबर 2016 तक POI मुहैया कराने की मांग की थी, लेकिन मौजूदा सर्विस ऑपरेटरों ने इस डेडलाइन तक कदम नहीं उठाया। उसने दोनों टेलीकॉम कंपनियों से कहा है कि उसकी जरूरत के मुताबिक POI तुरंत रिलीज करें।

जियो ने दोनों पत्रों में कहा है, ‘आपको पता ही हे कि आपने POI मुहैया कराने के शेड्यूल का पालन नहीं किया है। आप कोई न कोई बहाना बनाते रहे हैं। आपने जो भी बहाने सामने रखे हैं, उनमें से कोई भी तथ्यों पर टिका हुआ नहीं है और न ही उसका कोई कानूनी आधार है।’ जियो ने कहा है कि जब तक दोनों कंपनियां उसकी मांग के अनुसार POI मुहैया नहीं करातीं, तब तक कॉल फेल होती रहेंगी। 21 जून को जिया ने मौजूदा टेलीकॉम ऑपरेटर्स से कहा था कि वह इस साल जून तक उसके अनुमानित 2.2 करोड़ कस्टमर्स, सितंबर तक अनुमानित 5 करोड़, दिसंबर तक 7.5 करोड़ और मार्च 2017 तक 10 करोड़ कस्टमर्स के लिए इंटरकनेक्ट मुहैया कराएं। जियो की सेवाएं 5 सितंबर से शुरू हुई थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *