किसानों को हरसंभव मदद और हर संकट में सरकार साथ : शिवराज

भोपाल : मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि सरकार किसानों के साथ है और उन्हें हरसंभव मदद देगी। उन्होंने शिवपुरी जिले के सूखाग्रस्त क्षेत्र में सूखे से निपटने के लिये किसानों को राहत राशि देने के लिए भी कहा। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान आज शिवपुरी जिले के बदरवास में किसान सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गरीब एवं मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए मनेरगा के तहत विशेष पैकेज दिया जाएगा। किसानों को दिलासा दिलाते हुए उन्होंने कहा कि सूखे से निपटने में सरकार हमेशा किसानों के साथ है। श्री चौहान ने कहा कि सूखाग्रस्त क्षेत्रों में ट्रांसफार्मर जलने पर तत्काल बदलने की कार्यवाही की जाएगी। जहां भू-जल स्तर ठीक है, वहां पर ट्यूवबेल एवं हेण्डपंप स्थापित किये जाएंगे। जिन किसानों की समाधान योजना के ऋण की ब्याज राशि मूलधन से अधिक हो गई है, उनकी ऋण की ब्याज राशि माफ की जाएगी। साथ ही मूलधन की राशि भी 8 से 10 किश्तों में भुगतान करने की छूट दी जाएगी।

श्री चौहान ने इस अवसर पर भावांतर भुगतान योजना के तहत शिवपुरी जिले के 14 हजार 102 किसानों को लगभग 31 करोड़ 34 लाख की भावांतर राशि के स्वीकृति-पत्र दिए। साथ ही विभिन्न जन-कल्याणकारी एवं हितग्राही मूलक योजना के 32 हजार 128 हितग्राहियों को 1 अरब 34 करोड़ 27 लाख के हित-लाभ प्रदान किए।

घोषणाएँ

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने शैक्षणिक सत्र 2018-19 से बदरवास में कला-संकाय का नवीन शासकीय महाविद्यालय खोलने, आईटीआई में भवन निर्माण कराने तथा कोलारस अनुभाग की सिंहधन, रायखेड़ा, धामनटुक, पाली, राजगढ़, सेसई, गिरोय, बिजरौनी, बरौदिया में लघु सिंचाई योजना का सर्वे कराकर उनका निर्माण कराने की घोषणा की।

18 हजार किसानों को मिली 88 करोड़ फसल बीमा राशि
श्री चौहान ने बताया कि फसल बीमा योजना के तहत कोलारस में 18 हजार किसानों को 88 करोड़ की राशि वितरित की गई है। किसानों से समर्थन मूल्य पर 8 रूपए प्याज की खरीदी कर 650 करोड़ रूपए की राशि किसानों के खाते में जमा करा दी गई है। उन्होंने बताया कि भावांतर भुगतान योजना के तहत किसानों के बैंक खातों में उनकी फसल की भावांतर राशि जमा करवा दी गई है। मुख्यमंत्री ने किसानों को आश्वस्त किया कि किसी भी परिस्थिति में समर्थन मूल्य से कम मूल्य पर फसल का विक्रय नहीं होने दिया जाएगा।

किसानों को घर पर ही मिलेगी बी-1 एवं खसरें की नकलें
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अविवादित नामांतरण एवं बंटवारे का प्रकरण सामने आने पर संबंधित राजस्व अधिकारी से जुर्माने की वसूली का प्रावधान किया गया है। खसरे एवं बी-1 की नकल राजस्व अमले द्वारा घर-घर जाकर किसानों को निःशुल्क वितरित की जाएगी। उन्होंने समाज के विभिन्न वर्गों के लिए संचालित योजनाओं की जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश में भूमिहीन व्यक्तियों को भूमि का पट्टा देकर मालिकाना हक दिया जाएगा। ऐसे पट्टेधारियों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास निर्माण भी करवाए जाएंगे। जिले में 15 हजार आवासों का निर्माण किया गया है। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को निर्देश दिए कि ग्रामीणों की बिजली बिल की समस्या के निदान के लिए बिजली पंचायत एवं शिविर आयोजित किये जाएं।

समारोह में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री रुस्तम सिंह, सहकारिता राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री विश्वास सांरग, सांसद श्री प्रभात झा, मछुआ कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष श्री राजू बाथम, विधायक सर्वश्री प्रहलाद भारती, गोपीलाल जाटव, घनश्याम पिरौनिया, नारायण सिंह कुशवाह, किसान प्रकोष्ठ के अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक श्री रणवीर सिंह रावत सहित बड़ी संख्या में किसान उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *