एडिलेड. बेहतरीन फॉर्म में चल रहे अफ्रीकी कप्तान फाफ डु प्लेसिस ने गेंद से छेड़छाड़ के विवाद को पीछे छोड़ते हुए ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के तीसरे (अंतिम भी) और एकमात्र डे नाइट टेस्ट पहले दिन दूसरे छोर से विकेटों के पतझड़ के बीच नाबाद शतकीय पारी खेली. डु प्लेसिस ने गुलाबी गेंद से खेले जा रहे मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया और फिर नाबाद 118 रन बनाए. उन्होंने बाद में ऑस्ट्रेलिया को दिन के कुछ ओवर खेलने का मौका देने के लिये नौ विकेट पर 259 रन पर पारी समाप्त घोषित करने का साहसिक फैसला किया. ऑस्ट्रेलियाई सलामी जोड़ी ने हालांकि दिन का खेल समाप्त होने से पहले कुछ विकेट हासिल करने के डु प्लेसिस के मंसूबे पूरे नहीं होने दिए.

उस्मान ख्वाजा (नाबाद तीन) और मैट रेनशॉ (नाबाद आठ) की नई ऑस्ट्रेलियाई सलामी जोड़ी ने रक्षात्मक बल्लेबाजी का नमूना पेश किया. इससे ऑस्ट्रेलिया ने स्टंप उखड़ने तक 12 ओवरों में बिना किसी नुकसान के 14 रन बनाये. ख्वाजा अब तक 39 और रेनशॉ 34 गेंदों का सामना कर चुके हैं. रेनशॉ की पारी में दो चौके भी शामिल हैं.

इससे पहले साउथ अफ्रीकी पारी डु प्लेसिस के इर्द-गिर्द ही घूमती रही जिनकी क्रीज पर उतरने के बाद दर्शकों ने हूटिंग की थी. उन्हें गेंद से छेड़छाड़ का दोषी पाया गया था जिसके लिये उन पर जुर्माना भी लगा लेकिन उन्हें मैच में खेलने से बैन नहीं किया गया था. साउथ अफ्रीकी कप्तान ने अपनी नाबाद पारी में 164 गेंदें खेली तथा 17 चौके लगाए. साउथ अफ्रीका जब स्टीव स्मिथ की कुछ नए चेहरों से सजी टीम के सामने जूझ रही है तब डुप्लेसिस ने प्रतिबद्धता दिखाते हुए जानदार पारी खेली. डु प्लेसिस ने इसी मैदान पर चार साल पहले 376 गेंदों का सामना करके 110 रन बनाये थे और ऑस्ट्रेलिया को जीत दर्ज नहीं करने दी थी. साउथ अफ्रीका को सबसे अधिक नुकसान जोश हेजलवुड ने पहुंचाया. उन्होंने अब तक 68 रन देकर चार विकेट लिए हैं. मिशेल स्टार्क और जैकसन बर्ड ने दो-दो विकेट हासिल किये जबकि स्पिनर नाथन लियोन लंबे इंतजार के बाद विकेट हासिल करने में सफल रहे. विकेटकीपर मैथ्यू वेड ने बड़ी खूबसूरती से कैगिसो रबादा को स्टंप आउट करके लियोन को यह विकेट दिलाया.

दक्षिण अफ्रीका जब पहले बल्लेबाजी के लिये उतरा तो हेजलवुड और स्टार्क ने गुलाबी गेंद से मिल रही शुरूआती स्विंग और हरी पिच का फायदा उठाते हुए अफ्रीकी शीर्ष क्रम झकझोर दिया. स्टार्क ने डीन एल्गर (05) को तीसरी स्लिप में उस्मान ख्वाजा के हाथों कैच कराया जबकि टीम का स्कोर 12 रन था. हेजलवुड ने इसके बाद हाशिम अमला (05) को पहली स्लिप में मैट रेनशा के हाथों कैच कराया जबकि जेपी डुमिनी (05) भी उनकी गेंद पर विकेटकीपर वेड को कैच देकर पवेलियन लौटे.

सलामी बल्लेबाज स्टीव कुक को शुरू में जीवनदान मिला. उन्होंने स्टार्क की गेंद पर आउट होने से पहले 40 रन बनाये. कुक तब चार रन पर थे जब स्टार्क की गेंद उनके पिछले पैड पर लगी और उन्हें पगबाधा आउट दे दिया गया. लेकिन रीप्ले से पता चला कि स्टार्क ने नोबॉल की थी और कुक को वापस बुला लिया गया.

सीरीज में इससे पहले 84, 64, और 104 रन बनाने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज क्विंटन डिकाक आज कमाल नहीं दिखा पाए. उन्होंने 33 गेंदों पर 24 रन बनाये. डिकाक फिर से ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर नाथन लियोन के खिलाफ जंग में सफल रहे लेकिन हेजलवुड के सामने उनकी नहीं चली जिनकी गेंद उनके बल्ले को चूमकर वेड के दस्तानों में चली गयी. वर्नोन फिलैंडर (चार) ने भी हेजलवुड की गेंद पर विकेट के पीछे कैच देकर पवेलियन लौटे. उन्होंने तीसरे अंपायर का सहारा भी लिया लेकिन स्निकोमीटर से साफ हो गया कि गेंद उनके बल्ले से लगकर गयी थी.