मोदी सरकार से दु:खी हुए नीतीश

नालंदा. भले ही नोटबंदी और कालेधन के मामले में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नरेंद्र मोदी की हिमायत करते दिख रहे हों, मगर नालंदा अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्लाय के मामले में नितीश ने केंद्र को बख्‍शने के मूड में नहीं है. राजगीर महोत्सव के मंच से उन्होंने अपनी नाराजगी दिखाते हुए कहा की केंद्र सरकार अपनी सत्ता का दुरुपयोग कर रही है.

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने चांसलर जार्ज इयो के इस्तीफा दिए जाने को दुर्भाग्य पूर्ण बताया उन्होंने कहा की बगैर सहमति के स्थापना काल से लगे लोगों को हटाकर नये बोर्ड का गठन कर दिया गया है जो विश्वविद्लाय के लिए शुभ संकेत नही है.

इधर कुलपति गोप सबरबाल के कार्यकाल पूरा हो जाने के कारण वे भी सेवा मुक्त हो गयी हैं. यानि सीधे तौर पर यह कहा जा सकता है की वर्तमान परिवेश में नालंदा अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्लाय के विकास में ग्रहण लगता दिख रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *