indianhockeyनई दिल्ली. भारतीय पुरूष हॉकी टीम ने रविवार को चार देशों के आमंत्रण टूर्नामेंट में मलेशिया के खिलाफ कांस्य पदक के प्ले ऑफ मुकाबले में दबदबा बनाते हुए 4.1 से जीत दर्ज कर तीसरा स्थान अपने नाम किया। भारत ने टूर्नामेंट के अपने पहले मैच में भी मलेशिया को पीटा था और अब यहां भी तीसरे और चौथे स्थान के लिए हुए मुकाबले में उसने उसी प्रदर्शन को दोहराते हुए मलेशिया को 4-1 से धो दिया। भारतीय टीम ने मैच के शुरुआत से ही अच्छा खेल दिखाया और इसका फायदा भी उसे जल्दी ही देखने को मिला जब आकाशदीप सिंह ने मैच के दूसरे ही मिनट में गोल दागकर स्कोर 1-0 कर दिया।  भारत की आरे से मैच के 45वें मिनट में वीआर रघुनाथ ने पेनल्टी कार्नर को गोल में तबदील करके स्कोर 2-0 कर दिया।
दूसरे क्वार्टर में भारतीय फॉरवर्ड अफान यूसुफ मलेशिया के तीन डिफेंडरों को पछाड़ते हुए गोल की ओर बढ़े, उन्होंने गोल की ओर रिवर्स हिट शॉट लगाया लेकिन मलेशियाई गोलकीपर कुमार सुब्रमण्यम ने इसका बढ़िया बचाव किया। मलेशिया ने मौके बनाने के प्रयास किये लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली। हाफ टाइम तक भारत ने 1-0 की बढ़त बनायी हुई थी। तीसरे क्वॉर्टर में दोनों टीमों ने मौके बनाये। कई बार सर्कल में घुसने के बावजूद किसी भी टीम को तीसरे क्वॉर्टर के अंत तक गोल करने का सही मौका नहीं मिला। हालांकि अंतिम मिनट में वीआर रघुनाथ ने दो पेनल्टी कॉर्नर में से एक को गोल में तब्दील कर भारत की बढ़त दोगुनी कर दी।
हालांकि मलेशिया ने अपने खेल सुधारते करते हुए रघुनाथ के गोल कुछ सेकेंड बाद ही जोल वान ह्यूजेन के बेहतरीन गोल की बदौलत स्कोर 2-1 कर दिया। लेकिन इसके 7 मिनट बाद ही एक बार फिर से भारत ने 52वें मिनट में तलविंदर सिंह की बदौलत स्कोर 3-1 कर दिया। तलविंदर के गोल के बाद ही रुपिन्दर पाल सिंह ने भी 58वें मिनट में एक और पेनल्टी कार्नर को गोल में तब्दील करके गेम 4-1 से भारत के नाम कर दिया।
भारतीय महिला हाकी टीम ने आज यहां अपना आस्ट्रेलियाई दौरा तीसरे और अंतिम मैच में 1-3 से हारकर समाप्त किया जिससे उन्होंने सीरीज 1-2 से गंवा दी। भारत की दीपिका को सीरीज में शानदार प्रदर्शन के लिये ‘प्लेयर आॅफ द टूर्नामेंट’चुना गया। भारतीय महिला खिलाड़ियों ने आज अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। मैदान में हुई टक्कर के बाद कप्तान वंदना पूरे मैच के लिये बाहर हो गई।