राज्य सरकार ने की जाति प्रमाण पत्र बनाने की प्रक्रिया में सरलीकरण

*नहीं देना होगा अब 1950 के पूर्व का राजस्व दस्तावेज, लाखो को मिलेगा लाभ*

*गांडा समाज में जश्न, उत्साह का वातावरण*

*अम्बेडकर प्रतिमा में माल्यर्पण किए, बांटी मिठाई*

*जाति प्रमाण पत्र बनाओ संघर्ष मोर्चा ने किया था संघर्ष*

रायपुर। गांडा महासभा महिला विभाग की अध्यक्ष व जाति प्रमाण पत्र बनाओ सँघर्ष मोर्चा की अध्यक्ष श्रीमती सावित्री जगत ने कहा जाति प्रमाण पत्र बनाने की कठिन प्रक्रिया से परेशान समाज लगातार सरलीकरण को लेकर विगत कई वर्षों से संघर्ष कर रहा था। जाति प्रमाण पत्र की कठिन प्रक्रिया के चलते अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग के लोगों को 1950 के पूर्व का राजस्व दस्तावेज की मांग की जाती थी, जो कि गरीबी एवं अशिक्षा के कारण इतने पुराने दस्तावेज दिया जाना इस वर्ग के द्वारा दिया जाना संभव नहीं था जिस कारण लाखों लोगों को आरक्षण का लाभ नहीं मिल पा रहा था।जाति प्रमाण पत्र संघर्ष मोर्चा के बैनर तले अध्यक्ष श्रीमती सावित्री जगत के नेतृत्व में लगातार संघर्ष किया गया। राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, साहित छत्तीसगढ़ के 90 विधायक 11 सांसद, मुख्यमंत्री, राज्यपाल सभी की पत्राचार किया गया । सरलीकरण की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन किया अनेक समाजिक कार्यक्रमों में मुख्यमंत्री श्री रमन सिंह जी को ज्ञापन सौंपा गया। सरलीकरण की आवाज विधानसभा में भी गूंजी। समाज के लोगों को अनुसुचित जाति जनजाति मंत्री केदार कश्यप, नगरीय निकाय मंत्री श्री अमर अग्रवाल, वरिष्ठ मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल , भाजपा अध्यक्ष श्री धरम लाल कौशिक, आदिमजाति कल्याण विभाग के अधिकारियों विशेष सहयोग मिला। अंततः सरकार के द्वारा ऐतिहासिक निर्णय लेते हुए जाति प्रमाण पत्र बनाने की प्रकिया में सरलीकरण कर दिया। नए आदेश के अनुसार जिनके पास मूल निवास व जाति सम्बन्धी दस्तावेज नही है सरकार उनके घर पहुँच कर आवेदन भरेगी, पटवारी प्रतिवेदन लिया जाएगा और आवेदन नगर निगम की सामान्य सभा मे पारित कर तहसीलदार को भेजा जाएगा जहां से उन्हें जाति प्रमाण पत्र बनाकर दिया जाएगा। उक्त सम्बन्ध में छ्त्तीसगढ़ शासन नगरीय निकाय विभाग के द्वारा समस्त कलेक्टर एवं 13 नगर पालिक निगम आयुक्त को आदेश जारी किया गया है। सरलीकरण से अनुसूचित जाति, जनजाति पिछड़ा वर्ग के लाखोँ लोगों को इसका लाभ मिलेगा। समाज का प्रतिनिधि मण्डल कल दिनंाक 12 जनवरी 2018 को समय 12 बजे जिला कलेक्टर रायपुर श्री ओ.पी. चैधरी से भंेट कर आदेश की प्रति सौंपने का निर्णय लिया है। आदेश की प्रति प्राप्त करने के बाद समाज के सैकड़ों लोगों ने घड़ी चैक स्थित डाॅ. भीमराव अम्बेडकर प्रतिमा के समक्ष उपस्थित होकर एक दूसरे को गुलाल लगाकर बधाई दी तथा मिठाई खिलाकर खुशियां मनाई। इस अवसर पर प्रमुख रूप से गांड़ा महासभा महिला विभाग की अध्यक्ष श्रीमती सावित्री जगत, कौशल्या सागर, सीमा क्षत्रि, अनिता बघेल, अधिवक्ता बिमला ताण्डी, हेमा सागर, गीता दुर्गा, बिंदिया नाग, माला दीप, सपना महानंद, मीनाक्षी महानंद, पिंकी निहाल, जमुना क्षत्रि, दयाबती सोनी, यशोदा नायक, संयोजक श्री रघुचंद निहाल, अध्यक्ष राजेश दीप, राजमोहन बाघ, नारायण बाघ, डमरूधर दीप, कमने सोना, नेमराज बाघ, बंटी निहाल, सुरेन्द्र बघेल, जयलाल नायक, हरिचरण महानंद, नीरू नायक, मंगल क्षत्रि, अमर दीप, संातेष निहाल, सुशील दीप, प्रीतम हरपाल, शशि ताण्डी, कुंवर निहाल, अभिमन्यु जगत, रोहित सोना, सहदेव सोना, बसंत महानंद, हीराधर सोना, भास्कर नायक, आनंद नायक, रमेश ताण्डी, जनक हरपाल, पीलू कुलदीप सहित सैंकड़ों लोग उपस्थित थे।*

सावित्री जगत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *