खेल शरीर के विकास का सर्वोत्तम साधनः संजय श्रीवास्तव

रायपुर । सेन्ट जवियर्स हायर सेकेन्ड्री स्कूल में रायन .मिनि मैराथ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रायपुर विकास प्राधिकरण एवं भाजपा प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने खेलो में भाग लेने वाले विजेता खिलाड़ियों को पूरस्कार वितरण किया साथ ही सेन्ट जेवियर्स हायर सेकेन्ड्री स्कूल के सभी शिक्षक एवं आयोजित सफल कार्यक्रम में साथ देने वाले सभी सहयोगी को बधाई एवं साधुवाद दिये।
श्री श्रीवास्तव ने बताया कि जैसा तन वैसा मन यह कहावत जानते तो सभी हैं परन्तु जो इसका पालन करते हैं वे शारीरिक स्वास्थ्य पर भी ध्यान देते हैं। खेलों का महत्त्व और उपयोगिता आधुनिक जीवन में और भी अधिक बढ़ गयी है। स्कूलों तथा कॉलेजों में भी अब खेलों पर अधिक ध्यान दिया जाने लगा है। कुछ खेल घर में भी खेले जा सकते हैं तो कुछ ऐसे हैं जिनको खेलने के लिए मैदान की आवश्यकता होती है। वैसे छात्रों के लिए तो मैदान में खेले जा सकने वाले खेल ही अधिक लाभदायक होते हैं।
कबड्डी, हॉकी, क्रिकेट, बैडमिंटन, खो-खो, बॉस्केटबॉल आदि ऐसे ही खेल हैं। खेलने से मनोरंजन भी होता है और साथ ही साथ व्यायाम भी। खेल हमारे शरीर को स्वस्थ्य बनाये रखने के साथ-साथ हमारे भीतर कई अच्छे और आवश्यक गुणों का विकास भी करते हैं। खेलों से प्रतियोगिता की तथा संघर्ष की भावना सहज ही सीखी जा सकती है। सामूहिक जिम्मेदारी, सहयोग और अनुशासन की भावना का कोषागार खेलों में ही छिपा है। जो देश खेलों में अव्वल आते हैं वे विकास की दौड़ में भी अग्रणी रहते हैं।
उन्होनें आगे कहा कि यह जो प्रतियोगिताएं होती है इससे हमारे समाज को एक दुसरे से जुडे़ रहने तथा एक दुसरे के साथ सौहार्द्र्र भाईचारा को बनाये रखने में महत्वपूर्ण भुमिका होती है। खेल मनोरंजन का साधन ही नहीं होती बल्की यह एक माध्यम हो अपने और दुसरांे के साथ सामंजस्य तथा समाज की व्यवस्था को बनाएं रखने का एक जरिया माध्यम होनी चाहिए।
श्री श्रीवास्तव ने कहा कि खेल प्रतियोगिताएं प्रतिभाओं को सामने लाने, उनका हुनर निखारने, स्वस्थ प्रतिस्पर्धा को प्रोत्साहन देने और जोश-उत्साह का संचार करने के लिए बेहद जरूरी हैं। इनके अलावा इस तरह के आयोजनों से समाज में सौहार्द्र भी बढ़ता है, एक-दूसरे से नजदीकी भी बढ़ती है, इसीलिए ऐसे आयोजनों में मेरी पूरी कोशिश होती है कि भाग लूं और योगदान दूं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *