बिहार विकास समीक्षा यात्रा, 7 निश्चय की 4 मूल योजनाएं 4 साल में होंगी पूरी : नीतीश

गया : सात निश्चय की चार आधार याेजनाओं को चार साल में पूरा कर लिया जायेगा. इनमें हर घर नल का जल, हर घर तक पक्की गली-नालियां, शाैचालय निर्माण-घर का सम्मान और हर घर बिजली लगातार याेजनाएं शामिल हैं. एससी-एसटी बहुल गांव-टाेलाें में इन याेजनाआें काे प्राथमिकता के आधार पर कराना है. वार्डवार काम हाेगा. किसी काे घरबराने की जरूरत नहीं है. चार साल में सभी के घराें में ये याेजनाएं पहुंच जायेंगी.

ये बातें मंगलवार को विकास कार्याें की समीक्षा यात्रा पर गया के टिकारी प्रखंड के लाव गांव पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहीं. मुख्यमंत्री को हेलीकॉप्टर से लाव पहुंचना था, पर पटना में घना काेहरा होने के कारण वे सड़क मार्ग से दोपहर बाद 1:05 बजे गांव पहुंचे. मुख्यमंत्री ने अपने भाषण को विकास और सामाजिक कुरीतियों को दूर करने तक ही सीमित रखा. उन्होंने एनडीए, राजद व कांग्रेस की कोई चर्चा नहीं की.

काेई घर नहीं रहेगा विकास से अछूता
सीएम पहले लाव गांव के महादलित टाेले में गये. वहां याेजनाआें के काम को देखा और टाेले के लाेगाें से बातें कीं. इसके बाद वे 1:27 बजे मंच पर पहुंचे. मंच से उन्हाेंने जिले में 225 याेजनाआें का उद्घाटन व शिलान्यास रिमाेट दबा कर किया. 50 हजार 571 लाख रुपये की लागत से इन याेजनाआें का निर्माण पूरा किया जाना है. 225 में 41 हजार 801 लाख रुपये की लागत से बननेवाली 169 याेजनाआें का शिलान्यास किया व आठ हजार 770 लाख रुपये की लागत निर्मित 56 याेजनाआें का उद्घाटन किया. उन्हाेंने कहा जिन याेजनाआें काे चार साल में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है, वे पहले जिस गति से चल रहा थी, उसमें महज 22 प्रतिशत परिवाराें काे ही जाेड़ा जा सकता था. इसलिए इसे सात निश्चय में शामिल कर वार्डवार पूरा करने का लक्ष्य तय किया गया है. इसका विकेंद्रीकरण कर काम काे आसान किया गया. इस मुखिया जी काे यह कह कर भड़का दिया गया कि उनका अधिकार छीना जा रहा है. लेकिन सच्चाई है कि उनकी ताकत काे आैर मजबूत किया गया. जब गांवाें में वार्ड के माध्यम से काम कराये जा रहे हैं ताे हर गांव में चमन हाेगा और इसका सीधा लाभ गांव को ही मिलेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *