जनता कांग्रेस ने स्वास्थ्य मंत्री आवास का किया घेराव: छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विसेज कारपोरेशन में भ्रष्टाचार दोषियों पे कार्यवाही की मांग

 

रायपुर ,स्वास्थ्य विभाग में हो रहे भारी भ्रष्टाचार की लिखित शिकायत समय-समय पर मेरे द्वारा विभागीय मंत्री श्री अजय चन्द्राकर को की गयी थी जिस पर उन्होंने जांच कर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही का भरोसा दिलाया था पर आज दिनांक तक कार्यवाही तो दूर जांच भी शुरू नहीं की गयी है। दोषियों पे कार्यवाही करने की मांग को लेकर आज स्वास्थ्य मंत्री का घेराव किया गया।युवा जनता कांग्रेस के अध्यक्ष विनोद तिवारी ने बताया कि 17 करोड़ रूपये की मल्टी विटामिन सिरप की आवश्यकता से अधिक एवं नियम विरूद्ध खरीदी की गई। 70 लाख मल्टी विटामिन सिरप बता कर खरीदी गई थी, में से लगभग 58 लाख बाटल गोदाम में धूल खा रही है। जब इतनी विटामिन सिरप की आवश्यकता नहीं थी तो वित्तीय वर्ष के आखिरी दिन हड़बड़ी में आदेश जारी भ्रष्टाचार करने के उद्देश्य से किया गया। आदेश की प्रति ऑन लाईन साइट से गायब कर दी गई। आदेश को सप्लायर कंपनी को मेल आखिर क्यों नहीं किया गया। जब अन्य दवा सप्लायर के पास दवा कम दाम में उपलब्ध थी, फिर उंची दाम पर दवा खरीद भ्रष्टाचार किया गया।उपकरण क्रय में प्रत्योजित अधिकार का दुरूपयोग करते हुये प्रबंध संचालक व्ही. रामाराव ने अति आवश्यक जीवन रक्षक उपकरणों के क्रय के लिये मेडिकल कार्य के अनुभव की अनिवार्य शर्तो में शिथिलता दे दी। ताकि उनकी चहेती कंपनियों को फायदा पहुंचाया जा सके। छत्तीसगढ़ राज्य के बाहर निर्माण करने वाले कंपनियों को भ्रष्टाचार कर नियम विरूद्ध टर्न ओव्हर छूट का लाभ दिया गया।स्वास्थ्य विभाग में जारी भ्रष्टाचार की शिकायत हम लोगों द्वारा स्वास्थ्य मंत्री को 70 दिन पूर्व सहप्रमाण की गई थी। तब उन्होंने 15 दिवस में दोषियों पर कार्यवाही का आश्वासन दिया था। किंतु आज दिनांक तक जांच भी प्रारंभ नहीं हो पाई। स्वास्थ्य सचिव को भी ज्ञापन दिया उनके द्वारा भी कोई कार्यवाही नहीं की गई। इस संरक्षण से प्रबंध संचालक व्ही. रामाराव के हौसले बुलंद हो गये रोज नये कारनामे करने लगे।इसी तरह पिछले दो वर्ष में प्रतिबंधित गुटखे के व्यवसाय को संरक्षण देने वाले अश्वनी देवांगन व अजय कन्नौजे के खिलाफ पुख्ता प्रमाण के साथ हम लोगों ने 7 शिकायत पत्र स्वास्थ्य मंत्री कलेक्टर व सचिव को सौंपा। 80 लाख पाउच प्रतिबंधित गुटखा हम लोगों द्वारा पकड़वाया गया, जिस पर आज दिनांक तक कोई कार्यवाही नहीं हुई उपरोक्त अधिकारियों द्वारा विधि विरूद्ध 16 गुटखे के मामले को माननीय न्यायालय में प्रस्तुत न कर ए.डी.एम. कोर्ट में प्रस्तुत किया गया। नियम विरूद्ध 18 टन गुटखा जलाये जाने की बात अश्वनी देवांगन द्वारा कही गई। किन्तु गुटखे को वापस गुटखा माफियाओं को बेच दिया गया था, प्रदेश में बिक रहे अवैध गुटखे व गुटखा माफियाओं को इनका संरक्षण प्राप्त है। पुख्ता प्रमाण देने के बावजूद इन पर कोई कार्यवाही नहीं की गई।आज दोपहर 2 बजे हजारों की संख्या में युवा जनता कांग्रेस के कार्यकर्ता जोगी निवास से स्वास्थ्य मंत्री अजय चन्द्राकर के निवास पर घेराव करने निकले। रामाराव को बरखास्त करने की मांग, कुटरचित दस्तावेजों के आधार पर ठेके लेने वाले ठेकेदारों के विरूद्ध कार्यवाही की मांग, 17 करोड़ की नियम विरूद्ध दवा खरीदी करने वालों पे कार्यवाही की मंांग, गुटखा दलाल विधि विरूद्ध कार्य करने वाले अधिकारी अश्वनी देवांगन, अजय कन्नौजे पर कार्यवाही की मांग, प्रदेश में गुटखा बिक्री रोकने की मांग, को लेकर स्वास्थ्य मंत्री आवास की तरफ बढ़ रहे थे तभी कबीर चौक पर पुलिस ने बैरीकेटिग लगा रखी थी। सभी युवाओं को वहां पर रोक लिया गया। गुस्साये युवा जमीन पर बैठ सरकार के खिलाफ नारे बाजी कर मंत्री से मिलने की मांग करने लगे पुलिस द्वारा युवाओं को गिरफ्तार किया गया। युवाओं को ले जाने पुलिस की गाडि़या कम पड़ गई। पुलिस रिकार्ड में 423 लोगों की गिरफ्तारी दर्शायी गई। जबकि हजारों की संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।विनोद तिवारी ने कहा कि अगर 15 दिनों में दोषियों के खिलाफ कार्यवाही न होने पर मुख्यमंत्री के निवास का घेराव करने की चेतावनी दी है।आज के इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से विनोद तिवारी, अयुब खान, विनोद गुप्ता, सयैद उमैर, देवदास नारंग, पंकज दिवान, संदीप यदु, संजय तिवारी, रिव सिगैर, देवराज भाट, अजय पाण्डे, दुर्गेश ताम्रकार, दीक्षा पाण्डे, उपेन्द्र मण्डल, डी.
कृष्णा, अजीतेष मिश्रा, पुरूषोत्तम सोनवानी, सूरज अहिरवार, विवेक अग्रवाल, नाहिद खान, मुकेश ढीढ़ी, पप्पू पुरेना, विनोद चौहान, विक्की रात्रे, बिज्जू बंजारे, रामचक्रधारी, मृत्युंजय तिवारी, अक्कू, राजेश टंडन, रवि दलई, श्याम झा, भुपेन्द्र झा, अंकित अग्रवाल, अपरजीत तिवारी, विशाल रजानी, करण पाण्डेय, मोहमद असलम, शुभम शर्मा, सोनू सतवानी आदि कार्यकर्त्ता उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *