श्रीनगर : अस्पताल में हमला कर आतंकी को भगा ले गए साथी

आतंकी

जम्मू : श्रीनगर के सरकारी श्री महाराजा हरि सिंह (एसएमएचएस)अस्पताल में मंगलवार को आतंकी पुलिस दल पर हमला कर पाकिस्तानी आतंकी नवीद को हिरासत से छुड़ाकर फरार हो गए।

नवीद सहित छह कैदियों को पुलिस चेकअप के लिए अस्पताल लाई थी। इस हमले में दो पुलिसकर्मी शहीद हो गए। पुलिस ने नवीद सहित हमलावर आतंकियों को पकड़ने के लिए पूरे श्रीनगर में रेड अलर्ट कर सघन तलाशी अभियान चला रखा है।

सीसीटीवी में कैद हुई आतंकियों के भागने की फुटेज को भी खंगाला जा रहा है। इस बीच, डायरेक्टर जनरल प्रीजन (जेल) एसके मिश्रा ने हमले की जांच के आदेश दे दिए हैं।

घटना सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे हुई। पुलिस के जवान सेंट्रल जेल से छह कैदियों को जांच के लिए एसएमएचएस अस्पताल की ओपीडी में लेकर आए थे। इनमें दो आतंकी थे, जिसमें एक लश्कर कानवीद भी शामिल था।

850 बिस्तर की क्षमता वाला एसएमएचएस अस्पताल श्रीनगर का दूसरा सबसे बड़ा अस्पताल है। पहला नंबर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड हास्पिटल का आता है।

एसएमएचएस अस्पताल की पार्किग में पहले से ही दो आतंकी नावेद को छुड़ाने के लिए घात लगाए बैठे थे। जैसे ही पुलिस नवीद सहित अन्य कैदियों को लेकर अस्पताल पहुंची और उन्हें गाड़ी से नीचे उतारा, वहां छिपे आतंकियों ने गोलियां चला दीं।

इसमें हेड कांस्टेबल मुश्ताक अहमद मौके पर ही शहीद हो गए, जबकि कांस्टेबल बाबर अहमद ने अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। इस दौरान आतंकी नवीद ने पुलिस कर्मी की राइफल भी छीन ली।

इससे पहले कि पुलिस के जवान संभल पाते, नवीद हथियार के साथ हमलावर आतंकियों के साथ अस्पताल से फरार हो गया।

हमले की सूचना मिलते ही पूरे अस्पताल परिसर और आसपास क्षेत्र को स्पेशल ऑपरेशन गु्रप (एसओजी), पुलिस और सीआरपीएफ ने अपने कब्जे में ले लिया है। सुरक्षाबलों ने फरार आतंकियों को पकड़ने के लिए अभियान चला रखा है। अस्पताल के चप्पे-चप्पे की छानबीन की जा रही है।

श्रीनगर के एसएसपी इम्तियाज इस्माइल ने हमले में दो जवानों के शहीद होने की पुष्टि की। उन्होंने बताया कि सेंट्रल जेल से कैदियों को कड़ी सुरक्षा में चेकअप के लिए लाया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *