पुतिन ने दिया था यात्री विमान गिराने का आदेश, डॉक्युमेंट्री में खुलासा

मॉस्को : रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि उन्होंने 2014 में एक यात्री विमान को गिराने का आदेश दिया था। पुतिन ने यह बात रविवार को एक डॉक्युमेंट्री फिल्म में कही।

पुतिन ने कहा कि उन्हें लगा था कि विमान में बम है और वह सोची में होने वाले विंटर ओलिंपिक खेलों को निशाना बनाने वाला था।

2 घंटे लंबी डॉक्युमेंट्री ‘पुतिन’ को रूस में सोशल मीडिया पर रिलीज किया गया है। इसमें पुतिन ने एक रिपोर्टर से कहा, ‘7 फरवरी 2014 को उन्हें सोची खेलों के लिए लगाए गए सुरक्षा अधिकारियों की तरफ से फोन आया।

यह फोन सोची के विंटर ओलिंपिक की ओपनिंग सेरिमनी से ठीक कुछ देर पहले आया था।

मुझे बताया गया यूक्रेन से इस्तांबुल जाने वाले विमान को हाइजैक कर लिया गया है और हाइजैकर्स ने उस विमान को सोची में उतारने की बात कही।’

वहीं पत्रकार इस डॉक्युमेंट्री में कहते हुए नजर आ रहा है कि उस यात्री विमान में 110 यात्री सवार थे और उनमें से एक के पास बम था। विमान का रास्ता बदलकर उसे सोची में उतारने की प्लानिंग की गई थी।

पुतिन ने आगे कहा कि उन्होंने सुरक्षा अधिकारियों से सलाह-मशविरा किया तो उन्हें बताया गया कि ऐसी स्थिति में विमान तो गिरा देना ही सही रहेगा।

पुतिन के मुताबिक, उन्होंने प्लान के तहत ऐक्शन लेने की सलाह दी। इसके कुछ देर बाद ही पुतिन के पास फिर से फोन आया, जिसमें उन्हें बताया गया कि वह गलत खबर थी। उस यात्री के पास बम नहीं था, बल्कि उसने पी रखी थी।

बता दें कि इस डॉक्युमेंट्री को रूस में ऐसे वक्त में रिलीज किया गया है जब 18 मार्च को रूस में राष्ट्रपति चुनाव होने हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *