लोगों के सहयोग के लिए शासन सदैव तत्पर, महेश गागड़ा

धमतरी प्रदेश के वन एवं विधि-विधायी मंत्री  महेश गागड़ा आज शाम गंगरेल जलाशय के समीप स्थित आदिशक्ति मां अंगारमोती मंदिर ट्रस्ट द्वारा आयोजित आदिवासी समाज के वार्षिक अधिवेशन एवं भवन लोकार्पण कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर सम्मिलित हुए। उन्होंने समाज के लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि धरतीपुत्र कहे जाने वाले आदिवासी अब अपने मिथक से बाहर आकर शिक्षा, संस्कृति और नवाचार के माध्यम खुद को स्थापित करें। उन्होंने आगे कहा कि शासन लोगों को हरसंभव मदद करने के लिए तत्पर है, किन्तु वास्तव में समाज तभी जागरूक और आत्मनिर्भर होगा जब वह खुद के सद्प्रयासों और कोशिशों से अपनी छोटी-मोटी जरूरतें पूरा करने के काबिल बने और अन्य समाज के लिए भी उदाहरण बनें। प्रदेश के वनमंत्री श्री गागड़ा ने आदिवासी समाज के पदाधिकारियों की मांगों को पूर्ण करने का आश्वासन देते हुए कहा कि नवीन ज्योति कक्ष, सुलभ शौचालय और फूलों का बगीचा निर्माण की मांगों पर यथासंभव अमल करने जिले के कलेक्टर को निर्देशित किया है। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाले समाज के बुजुर्गों, युवक-युवतियों और छात्र-छात्राओं का सम्मान शॉल, श्रीफल तथा प्रशस्ति-पत्र भेंट कर किया गया। मंच पर मौजूद कलेक्टर डॉ. सी.आर. प्रसन्ना ने जिला प्रशासन की ओर से यथासंभव सहयोग प्रदान करने का आश्वासन दिया। इसके पहले, केबिनेट मंत्री श्री गागड़ा द्वारा मां अंगारमोती मंदिर ट्रस्ट के व्यय से द्वारा निर्मित कक्ष का लोकार्पण किया। इस अवसर पर उन्होंने क्षेत्र की विख्यात देवी मां अंगारमोती के दर्शन कर पूजा-अर्चना की तथा समाज, प्रदेश और देश में खुशहाली व तरक्की के लिए कामना की। इस अवसर पर मध्यप्रदेश शासन के पूर्व मंत्री एवं समाज के वरिष्ठ पदाधिकारी श्री माधव सिंह ध्रुव, सेवानिवृत्त आईएएस एवं धमतरी के पूर्व कलेक्टर श्री नवल सिंह मण्डावी, श्री माधव सिंह ठाकुर, डीएफओ श्री अमिताभ बाजपेयी सहित समाज के वरिष्ठ पदाधिकारीगण एवं उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *