चेन्नई का ज्वेलर 824 करोड़ लेकर भाग गया मॉरीशस, CBI ने अब तक नहीं दर्ज की FIR

नई दिल्ली : घोटालों के मौसम में एक और बैंकिंग घोटाला सामने आया है। चेन्नई की ज्वेलरी चेन कनिष्क गोल्ड प्राइवेट लिमिटेड द्वारा स्टेट बैंक सहित 14 बैंकों से 824 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। बैंकों की तमाम कोशिशों के बावजूद इस कंपनी के मालिक भूपेश कुमार जैन और उनकी पत्नी नीता जैन से संपर्क नहीं हो पाया। समझा जाता है कि यह दंपती मॉरीशस फरार हो गया है।

कनिष्क गोल्ड को लोन देने वाले सरकारी व निजी क्षेत्र के 14 बैंकों का लीड बैंक होने के नाते स्टेट बैंक ने इस साल जनवरी में सीबीआई से इस धोखाधड़ी की शिकायत की है लेकिन जांच एजेंसी ने अभी तक इस मामले में एफआईआर भी दर्ज नहीं की है। बैंकों के कंसोर्टियम द्वारा दिए गए 824 करोड़ के लोन पर ब्याज जोड़ने पर यह रकम 1000 करोड़ रुपये बैठती है।

लिया था 842 करोड़ का लोन
स्टेट बैंक ने बताया है कि सबसे पहले कनिष्क गोल्ड ने कंसोर्टियम में शामिल आठ बैंकों को मार्च, 2017 में ब्याज भुगतान में चूक की। अप्रैल, 2017 आते-आते कंपनी ने सभी 14 बैंकों को भुगतान देना बंद कर दिया। बैंकों ने जब कंपनी का स्टॉक अडिट शुरू किया तो उसके मालिकों से संपर्क नहीं हो पाया। 25 मई, 2017 को जब बैंकों ने कंपनी के कॉरपोरेट ऑफिस, फैक्ट्री और शोरूम का दौरा किया तो सभी पर ताला लटका मिला। तब तक कंपनी का सारा स्टॉक खाली किया जा चुका था।

(साभार : अमर उजाला )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *