राजस्थान रॉयल्स और चेन्नई सुपरकिंग्स दो साल के प्रतिबंध के बाद लौटी मैदान में

राजस्थान रॉयल्स और चेन्नई सुपरकिंग्स दो साल के प्रतिबंध के बाद इस सीजन में लौटी हैं। इस बार उनकी पहली टक्कर शुक्रवार को होने जा रही है। पिछले मैच में दोनों पूर्व चैंपियन टीमों को हार का सामना करना पड़ा था।
दोनों टीमें जीत की लय हासिल करने को बेताब होंगी। दो जीत और दो हार के साथ राजस्थान रॉयल्स चार अंकों के साथ पांचवें स्थान पर है। तीन मैचों में दो जीत हासिल कर चुकी चेन्नई के भी इतने ही अंक हैं। बेहतर रनरेट के कारण टीम चौथे स्थान पर है।
नए कप्तान अजिंक्य रहाणे की अगुआई में टीम को पहले मैच में हार मिली थी, लेकिन उसके बाद टीम ने लगातार दो मैच जीते। पिछले मैच में जरूर कोलकाता नाइटराइडर्स ने उन्हें सात विकेट से हरा दिया। धीमी विकेट पर रहाणे एंड कंपनी साझेदारियां बनाने में विफल रही और आठ विकेट पर 160 रन का स्कोर बनाया। केकेआर ने आसानी से तीन विकेट खोकर जीत हासिल कर ली।
अभी तक संजू सैमसन राजस्थान की बल्लेबाजी की धुरी रहे हैं। वह नाबाद 92 रन की पारी भी खेल चुके हैं। कप्तान रहाणे ने भी उपयोगी योगदान किया है लेकिन वह अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में बदलने में कामयाब नहीं हो सके हैं। गेंदबाजी में के गौतम और बेन लाघलिन ने अभी तक अच्छा प्रदर्शन किया है। वे रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के विराट कोहली और एबी डीविलियर्स जैसे हैवीवेट बल्लेबाजों पर अंकुश रखने में सफल रहे हैं।
राजस्थान ने इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स को 12.5 करोड़ रुपये में खरीदा है। अभी तक वह टीम की उम्मीदों पर ज्यादा खरे नहीं उतर सके हैं। चार मैचों में उनका सर्वाधिक स्कोर 27 रन है जबकि वह अभी तक एक विकेट ही हासिल कर पाए हैं।
दो बार की चैंपियन चेन्नई सुपरकिंग्स ने गत चैंपियन मुंबई इंडियंस और कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ लगातार दो मैचों में जीत हासिल की। मुंबई के खिलाफ ड्वेन ब्रावो ने 30 गेंदों पर 68 रन की पारी खेली। कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ हाईस्कोरिंग मैच में लक्ष्य का पीछा करते हुए सैम बिलिंग्स ने अच्छी पारी खेली।
किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ पिछले मैच में अंबाती रायुडू (49) और एमएस धोनी (79) सुपरकिंग्स को 198 के लक्ष्य के करीब लेकर आए लेकिन टीम चार रन से हार गई। गेंदबाजों में शेन वॉटसन और शार्दुल ठाकुर क्रमश: पांच और तीन विकेट ले चुके हैं। इमरान ताहिर अपनी लेग ब्रेक गुगली का प्रभाव दिखा रहे हैं। अनुभवी स्पिनर हरभजन सिंह और रवींद्र जडेजा भी टीम को मजबूती प्रदान कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *