10 साल की बच्ची के साथ मदरसे में दुष्कर्म

गाजियाबाद : दिल्‍ली से सटे उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के एक मदरसे से पुलिस ने लापता 10 साल की बच्‍ची को 22 अप्रैल को बरामद किया है. जहां उसके साथ कथित रूप से मौलवी और एक नाबालिग लड़के ने बलात्‍कार किया.पुलिस ने इस मामले में नाबालिग लड़के और मदरसे के मौलवी को गिरफ्तार कर लिया है और मामले की जांच कर रही है. इधर मीडिया रिपोर्ट के अनुसार 10 साल की बच्‍ची ने पुलिस के सामने जो बयान दिया है वो काफी विचलित करने वाला है.
10 साल की मासूम ने बताया कि वो कैसे मदरसे तक पहुंची और वहां उसके साथ मौलवी ने कैसे रेप की घटना को अंजाम दिया. बच्‍ची ने पुलिस को बताया, 21 अप्रैल को वो दुकान जाने के लिए अपने घर से बाहर निकली थी. जहां उसे पड़ोस की एक लड़की मिली. उस लड़की ने उसे एक दोस्‍त से मिलवाया. यह वही नाबालिग था जिसने उसे मदरसे तक लेकर गया.बच्‍ची ने बताया कि उसी नाबालिग लड़के और मौलवी ने मदरसे के कमरे में उसके साथ कई बार बलात्‍कार किया. उसने पुलिस के सामने बताया, मौलवी रेप करने के बाद कमरे में कैद कर देता था. उसे बिना कपड़े के रहना पड़ता था. जब पुलिस मदरसे में पहुंची तो उस समय भी वो केवल एक कपड़ा लपेटे फर्श पर लेटी थी.अपराध शाखा की टीम ने मदरसे का किया दौराअपराध शाखा की टीम ने गाजियाबाद के एक मदरसे का दौरा किया , जहां 10 साल की एक लड़की से एक किशोर ने कथित तौर पर बलात्कार किया था. वह लड़की को पूर्वी दिल्ली के गाजीपुर स्थित उसके घर से लेकर आया था.पुलिस ने बताया कि टीम ने मदरसे का दौरा किया और इस मामले के संबंध में वहां के निवासियों एवं आने जाने वालों से पूछताछ की. इस मामले को लेकर गाजीपुर में तनाव की स्थिति पैदा हो गयी थी.दिल्ली पुलिस की एक टीम ने लड़की को 22 अप्रैल को मदरसे से बरामद किया था. गत 21 अप्रैल को लड़की के पिता ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी थी. इसके बाद लड़की को मदरसे से बरामद किया गया था और किशोर को पकड़ा गया गया था.मामले को अपराध शाखा के पास जांच के लिए स्थानांतरित किया गया है. एक अधिकारी ने बताया कि लड़की के माता पिता का आरोप है कि मदरसा के धर्मगुरू को लड़की के बंदी बनाकर रखे जाने के बारे में पता था.वे लोग उसकी गिरफ्तारी की भी मांग कर रहे हैं. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि उससे इस मामले में पूछताछ की जा रही है. दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी और पूर्वी दिल्ली के सांसद महेश गिरि ने लड़की के परिजनों से मुलाकात की और हरसंभव सहयोग का भरोसा दिलाया. गिरि ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह को लिखे एक पत्र में मामले की सीबीआई जांच की मांग की है.

साभारः प्रभात खबर .कॉम

Leave a Reply