आज जबलपुर में एक ही समय पर कचड़ा उठाकर स्कूली बच्चे रचेंगे इतिहास

Last Updated on

जबलपुर. नगर निगम द्वारा जिला प्रशासन स्वच्छता में जबलपुर को नंबर वन बनाने  20 दिसम्बर  को एक लाख से ज्यादा  स्कूली बच्चे एक साथ एक निश्चित समय पर जागरूकता का महाअभियान चलाएंगे. शहर के सभी शासकीय, अशासकीय और सीबीएसई स्कूलों के विद्यार्थी अपरान्ह 11 बजे अपने स्कूलों के निकटतम चौराहे और तिराहे पर पहुॅंचकर नागरिकों को स्वच्छता का संदेश देगें. महापौर डॉं. श्रीमती स्वाती सदानंद गोडबोले की पहल पर निगमायुक्त  वेदप्रकाश ने इस अयोजन की रूपरेखा तैयार की. यह पहला अवसर है जब एक लाख से अधिक स्कूली बच्चे सड़कों पर आकर किसी विषय पर जनजागरूकता फैलाएंगे.

भारत सरकार द्वारा चलाये जा रहे स्वच्छ भारत अभियान के अंतर्गत जबलपुर को नंबर वन स्थान दिलाने लगातार प्रयास किये जा रहे हैं. महापौर डॉं. श्रीमती  गोडबोले ने बताया कि स्कूली बच्चे ही भविष्य के नागरिक बनेंगे अतः उनके माध्यम से समाज को मिलने वाले सन्देश का सकारात्मक असर पड़ेगा. जनमानस में नागरिकता का बोध होना आज नितान्त आवष्यक है और इसी के माध्यम से ही हम एक बेहतर समाज का निर्माण कर सकते हैं.

स्वच्छता को लेकर स्कूली बच्चों के महाअभियान के दौरान महापौर बच्चों के बीच जायेगें और उनका उत्साहवर्धन करेंगी. महापौर डॉं. श्रीमती गोडबोले ने सभी शाला प्राचार्यो एवं अध्यापकों से अपील की है कि सभी लोग अपने अपने नेतृत्व में बच्चों को स्कूल से नजदीकि के चौराहे एवं तिराहे पर निकलकर नागरिकों, एवं व्यापारियों को स्वच्छता जागरूकता अभियान की जानकारी दें और सभी से आग्रह करें कि सभी लोग कचरे को सड़कों पर न फेंके, कचरे को डस्टबिन में ही डाले.

महापौर ने कहा कि जबलपुर शहर का नम्बर एक स्थान पर चयन होता है तो हमारा ही नहीं जबलपुर का सम्मान एवं राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनेगी. इसलिए सभी लोग इस महाअभियान में भाग लेकर जबलपुर को स्वच्छता के क्षेत्र में नम्बर वन स्थान दिलाने के लिए साकारात्मक सहयोग प्रदान करें.

Leave a Reply