जिन्ना महापुरुष थे, हैं और रहेंगे, लगनी चाहिए प्रतिमा : सावित्री बाई फुले

लखनऊ: एएमयू में जिन्ना की तस्वीर पर उठा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. इस मामले पर नेता लगातार बयान दे रहे हैं. ताजा बयान बीजेपी की बागी सांसद सावित्री बाई फुले ने दिया है. उन्होंने कहा है कि जिन्ना महापुरुष थे, हैं और रहेंगे.

बहराइच में उन्होंने कहा कि आजादी की लड़ाई में जिन्ना का बड़ा योगदान था. उनसे पहले स्वामी प्रसाद मौर्य ने जिन्ना की तारीफ की थी. मौर्या ने कहा था कि राष्ट्र के निर्माण में ऐसे महापुरुषों का योगदान रहा है, अगर कोई उन पर सवाल उठाता है तो यह गलत बात है.

सांसद सावित्री बाई फुले ने कहा कि बहुजन समाज के लोगों पर लगातार अन्याय हो रहा है लेकिन सरकार चुप है. दलित हित की बातें ना हों, अत्याचार दुनिया ना देख सके इसलिए दूसरी चीजों को मुद्दा बना दिया जा रहा है.

उन्होंने सहारनपुर में भीम आर्मी कार्यकर्ता की हत्या पर कहा,”उसे शहीद कर दिया गया क्योंकि वह बाबा साहेब का अनुयायी था. इस पर भी सरकार संज्ञान नहीं ले रही है. देश भर में दहशत का माहौल है.”

उन्होंने कहा,”बात जिन्ना की नहीं है, लोगों के दिमाग को डायवर्ट करने के लिए ये सब किया जा रहा है. जिन्ना महापुरुष थे. वे सम्मानित थे. सम्मान के साथ उनकी प्रतिमा लगाई जानी चाहिए.”

सांसद ने ओमप्रकाश राजभर के मुद्दे पर कहा,”मुझे सम्मान नहीं मिलता, दलित सांसद कहा जाता है. देश के राष्ट्रपति को दलित राष्ट्रपति कहा जाता है. राजभर जी को भी सम्मान नहीं मिला है. जब तक संविधान पूरी तरह से लागू नहीं होगा तब तक ऐसा होता रहेगा.”

(साभार : ABP News)

Leave a Reply