संघ के कार्यक्रम में शामिल होने नागपुर पहुंचे प्रणब मुखर्जी

नई दिल्ली : पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के मेहमान बनकर नागपुर पहुंच चुके हैं. बुधवार को नागपुर पहुंचने पर आरएसएस के स्वयंसेवक उन्हें लेने पहुंचे. प्रणव के इस दौरे से कांग्रेस में खलबली मची हुई है.

प्रणब के नागपुर दौरे को लेकर कांग्रेस ने कोई बयान नहीं दिया, लेकिन कुछ कांग्रेस नेताओं के बयानों से एक बात तो साफ है कि कांग्रेस को प्रणब दादा का नागपुर जाना नागवार गुजर रहा है.

बुधवार को इन कांग्रेसी नेताओं की बयानबाजी के जवाब में RSS के थिंक-टैंक कहे जाने वाले मनमोहन वैद्य ने एक लेख लिखा. इसमें उन्होंने प्रणब के विरोध को कांग्रेस का बैद्धिक आतंकवाद करार दिया है.

इसके पहले पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को कांग्रेस के नेताओं ने ये नसीहतें दी कि वो क्या बोलें और क्या न बोलें. हालांकि प्रणब मुखर्जी ने इन सबको दो टूक जवाब दिया.

उन्होंने कहा, ‘मुझे जो बोलना होगा, मैं वहीं बोलूंगा. और नागपुर में जाकर ही बोलूंगा. मेरे पास कई चिट्ठियां और फोन कॉल आए हैं. मैंने किसी का जवाब नहीं दिया.’

प्रणब दा के नागपुर पहुंचने के बाद अब पूरे देश की निगाहें इस पर टिकी हैं कि अपने भाषण में क्या कहेंगे। राष्ट्रपति पद से हटने के बाद उनकी संघ प्रमुख मोहन भागवत से कई बार मुलाकात हो चुकी है। जानकारों का कहना है कि हाल के दिनों में मुखर्जी और भागवत की मुलाकातें सामान्य घटना नहीं है। इन मुलाकातों के राजनीतिक मायने भी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *