शिवसेना ने रखी शर्त, 152 विधानसभा सीटें और सीएम पद दो!

मुंबई। बीजेपी के ‘संपर्क फॉर समर्थन’ अभियान के तहत  बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह ने मातोश्री जाकर शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के साथ मुलाकात की। इस मुलाकात के पहले और बाद में शिवसेना ने एक ही राग अलापा- हम 2019 में अकेले चुनाव लड़ेंगे।

वैसे शिवसेना का यह स्‍टैंड कोई नया नहीं है, वह पहले भी ऐसे दावे करती रही है, लेकिन अंदर की खबर कुछ और है। मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, अमित शाह के साथ बातचीत के दौरान उद्धव ठाकरे ने एक प्रस्‍ताव रखा। उन्‍होंने बीजेपी के सामने गठबंधन के लिए ‘बड़े भाई’ की भूमिका वाला फार्मूला भी पेश कर दिया है।

फार्मूले के मुताबिक, शिवसेना अगले विधानसभा चुनाव में महाराष्‍ट्र की 288 विधानसभा सीटों में से 152 पर चुनाव लड़ना चाहती है, जबकि बीजेपी समेत अन्‍य सहयोगियों के लिए 136 सीटें छोड़ने की बात कर रही है। शिवसेना ने सीएम पद भी अपने पास रखने की बात कही है।

जहां तक लोकसभा चुनाव की बात है तो शिवसेना को 2014 का सीट बंटवारे का फार्मूला मानने में कोई गुरेज नहीं है। 2019 का रण बीजेपी के लिए बेहद अहम है, लेकिन शिवसेना के लिए यह अस्तित्‍व की लड़ाई है, क्‍योंकि 2019 में महाराष्‍ट्र विधानसभा चुनाव भी होने हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *