मोदी सरकार ने दिया किसानो को तोहफा, अपने वायदे को किया पूरा

जकार्ता

नई दिल्‍ली। मोदी सरकार ने आखिरकार किसानों से किया गया अपना वादा पूरा कर दिया है। केंद्र सरकार ने खरीफ फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में डेढ़ गुना की वृद्धि करके किसानों के लिए बड़ी सौगात की घोषणा कर दी।

खरीफ सीजन की प्रमुख फसल धान के एमएसपी में 200 रुपये प्रति क्विंटल की वृद्धि की गई है, जबकि प्रमुख दलहन मूंग का मूल्य 1400 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाया गया है।

खरीफ की सभी 14 फसलों के लागत के साथ 50 फीसद लाभ मार्जिन जोड़कर एमएसपी घोषित किया गया है। यह फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति की बैठक में बुधवार को लिया गया।

केंद्र सरकार ने चूंकि यह वायदा बजट में किया गया था, इसलिए इसकी प्रतीक्षा की जा रही थी कि खरीफ फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य कब घोषित होते हैं?

यह प्रतीक्षा इस जिज्ञासा के साथ हो रही थी कि सरकार की ओर से घोषित न्यूनतम समर्थन मूल्य लागत से सचमुच डेढ़ गुना होंगे या नहीं? आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति की ओर से लिए गए फैसले की जानकारी देते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने यह रेखांकित किया कि खरीफ की फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य लागत से डेढ़ गुना ही हैं।

चूंकि न्यूनतम समर्थन मूल्य की गणना करते समय खेती के सभी खर्चों समेत किसान परिवार के श्रम के मूल्य का भी आकलन करके कुल लागत में 50 फीसद लाभांश जोड़ा गया है, इसलिए फैसले पर विवाद की गुंजाइश कम है, लेकिन यह तय है कि विपक्षी नेता कुछ न कुछ आपत्ति जताएंगे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *