व्यक्ति नहीं विकास देखें भूपेश : भाजपा

रायपुर।स्तरहीन भाषा के प्रयोग में सबसे आगे रहने वाले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल की संकीर्ण मानसिकता दिन-प्रतिदिन उजागर होती जा रही है। यह बात भाजपा प्रवक्ता भूपेन्द्र सवन्नी ने भूपेश बघेल के बिलासपुर में किसानों के लटकने संबंधी व अमर्यादित बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहीं। उन्होंने कहा कि केंद्र में यूपीए सरकार के समय से ही कृषि क्षेत्र में पुरस्कार प्राप्त करने वाली डॉ. रमन सरकार की किसान हितैषी योजनाएं उनसे मिलते समर्थन के अंदेशे से बौखलाए भूपेश की संकीर्णता रोज जनता के सामने आ रही हैं। इन बातों की चलते जनता के सामने ना सिर्फ कांग्रेस पार्टी की छवि खराब हो रही है, वरन उनके कार्यकर्ता भी छिटकते जा रहे हैं, यह बात सप्ताह भर पूर्व विधानसभा में लाए गए अविश्वास प्रस्ताव के औंधे मुहं गिरने से भी साबित हो गया। विकास के बाढ़ में विकास खोज जैसे हास्यास्पद प्रयास में फेल हो चुके भूपेश रोज जनता के सामने किसी ना किसी मुद्दे की आड़ में अपनी मानसिकता की निम्नता साबित करते हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री की लोकप्रियता पार्टी अध्यक्ष की सक्रियता व राज्यसभा की एक सीट के लिए हुए चुनाव में जातिवाद के भ्रामक प्रचार के बावजूद विजय रहीं डॉ. सरोज पांडे की नामो का उल्लेख कर किसानों को बरगलाने का भूपेश का प्रयास खिसयानी बिल्ली खंभा नोचे जैसे हैं। संगठन के आंतरिक जुतमपैजार से बिखर चुके कांग्रेस को संभालने में असफल भूपेश जनता को बरगलाकर सत्ता के सपने देख रहें हैं। शिक्षा जैसे कार्य के लिए आरक्षित भूमि को भी अपने निजी हित में उपयोग करने वाले भूपेश एक कृषक के तौर पर सरकार की सारी योजनाओं का लाभ लेते हुए भी प्रश्न कर रहे हैं, न सिंर्फ प्रश्न कर रहे हैं वरण सुनंदा नहीं देखूंगा, नहीं मानूंगा भी नहीं जैसे अडियल भूमिका निभा रहे हैं। तभी जीरो प्रतिशत ब्याज दर पर किसानों को ऋण मुहैया कराने वाली छत्तीसगढ़ सरकार की व्यवस्था दिखाई नहीं देती। भूपेश भूल गए कि कांग्रेसी शासन में किसानो की जमीन बैल भैंस ही नहीं वरन मुर्गी बकरी तक बिक गए थे। पहले 2100 करोड़ रूपया फिर 1700 करोड़ का धान बोनस, लगभग 1100 करोड़ का फसल बीमा, लगभग 600 करोड़ का छतिपूर्ति बीमा किसानों को फ्लैट रेट पर बिजली, सिंचाई मशीन, रियायती दर पर कृषि उपकरण सहित फसल के समर्थन मूल्य पर वृद्धि के निर्णय से किसानों के चेहरे पर आई मुस्कान व संतुष्टि को देख पाने में असमर्थ भूपेश किसी पर आरोप लगाने से पहले बताएं क्यों नहीं दिया कांग्रेस ने 60 वर्षों में किसानों को सस्ती बिजली क्यों नहीं दिया फसलों पर बीमा भूपेश बताएं क्यों कर्ज से किसानों को घर बार बेचने मजबूर करती रही कांग्रेस ? रमन सरकार के विकास-विकास और लगातार विकास से प्रदेश में बने सकारात्मक वातावरण एवं किसान हितैषी सरकार की योजनाएं व क्रियान्वयन से किसानो के चेहरे की संतुष्टि से निश्चित दिख रहे भाजपा की चौथी जीत से बौखलये भूपेश को समझ आ गया कि विकास पर प्रश्न खड़ा कर जीत नहीं सकते तो व्यक्ति पर प्रश्न खड़ा कर सुर्खियां बटोरने की दिशा में बढ़ लों।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *