तीसरा सूर्यग्रहण: जाने क्या बनेगी स्थिति

11 अगस्त को साल का आखिरी सूर्य ग्रहण लगने वाला है। यह साल का तीसरा सूर्य ग्रहण होगा। इसे पहले 13 जुलाई और 15 फरवरी 2018 को दो सूर्य ग्रहण पड़ चुके हैं। 11 अगस्त के ग्रहण के बाद अब अगला सूर्य ग्रहण 6 जनवरी 2019 को पड़ेगा। 11 अगस्त होने वाले सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देखा लेकिन असर ज्योतिषीय नक्षत्रों और राशियों पर पड़ेगा। इसे साउथ कोरिया, रूस, चीन और अमेरिका में देखा जा सकेगा। इससे पहले 27 जुलाई को पूर्ण चंद्र ग्रहण पड़ा था दीदार पूरी दुनिया ने अपनी आखों से किया था।तत्संबंध में मेरा लेख भी प्रकाशित हुआ था, यह चंद्र ग्रहण सदी का सबसे लंबा 103 मिनट तक चला था।
यह ग्रहण भारत में नहीं दिखेगा इसलिए ग्रहण के नियम के अनुसार भारत में रहने वाले लोगों पर ग्रहण के सूतक का विचार नहीं होगा। भारत के लोगों को ग्रहण के दौरान किए जाने वाले नियमों के पालन की जरूरत नहीं। इसलिए अफवाहों और बेकार की बातों पर ध्यान ना दें।
हां, वे भारतीय जो उन देशों में रहते हैं जहां ग्रहण दिखेगा, उन पर इस ग्रहण का प्रभाव होगा और उन्हें सूतक का भी ध्यान रखना चाहिए। जिन क्षेत्रों में ग्रहण दिखेगा वहां केवल ग्रहण के सूतक का नियम पालन जरूरी माना गया है।

*सूर्य ग्रहण का समय-*
11 अगस्त दिन शनिवार को पड़ने वाला ग्रहण दोपहर 01:32:08 बजे से शुरू होगा। दोपहर 03:16:24 बजे ग्रहण के मध्य का समय होगा। इसके बाद 11 अगस्त को ही शाम 5:40 पर ग्रहण समाप्त होगा।
2019 में भी तीन सूर्य ग्रहण-
नासा के अनुसार अगले साल 2019 में भी तीन सूर्य ग्रहण देखने को मिलेंगे। 2019 में पहला सूर्य ग्रहण 6 जनवरी को, दूसरा 2 जुलाई को और तीसरा 26 अगस्त को पड़ेगा।

*ग्रहण के दौरान बरतने वाली सावधानियां*

👉ग्रहण काल के दौरान मानसिक जप करना चाहिए, ध्यान लगाना चाहिए या मौन साधना कर सकते हैं। इस दौरान पूजा नहीं करनी चाहिए और भगवान की मूर्ति या तस्वीर के स्पर्श की मनाही है।

👉गर्भवती स्त्रियों को ग्रहण के दौरान बाहर नहीं निकलना चाहिए। वह कमरे में रहें और मानसिक जप या ध्यान करें।

👉ग्रहण के दौरान खाने की सभी चीजों में तुलसी के पत्ते डाल दें।

👉खाली आंखों से ग्रहण को नहीं देखना चाहिए। इसके लिए उपयुक्त लैंस या गॉगल का इस्तेमाल करें। आप घर में रखी एक्स-रे फिल्म को आंखों के आगे रखकर भी ग्रहण देख सकते हैं। साथ ही आप सोलर फिल्टर या सलर व्यूअर का भी प्रयोग कर सकते हैं।

👉ध्यान रखें, जिस भी माध्यम से आप ग्रहण को देख रहे हों चाहे वह एक्स-रे फिल्म हो या ग्लास, उसमें स्क्रैच नहीं होने चाहिए।

👉सूर्य ग्रहण की फोटो क्लिक करना चाहते हैं तो किसी एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें। अन्यथा आंखों को नुकसान हो सकता है।

👉ग्रहण काल के बाद किसी पवित्र नदी या ताजे जल से स्नान करना चाहिए।

👉स्नान के बाद दान-पुण्य करने का विधान हमारी संस्कृति में है।

__★★__
*भविष्यवक्ता*
(पं.) डॉ. विश्वरँजन मिश्र, रायपुर
एम.ए.(ज्योतिष), बी.एड., पी.एच.डी.
मोबाईल :- 9806143000,
8103533330

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *