भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में उठा सीएनटी, एसपीटी में संशोधन का मुद्दा

Last Updated on

जमशेदपुर  : आदित्यपुर में भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि राज्य सरकार की ओर से सीएनटी व एसपीटी एक्ट में संशोधन किया गया है, जिसका आम जनमानस पर सीधे तौर पर असर पड़ा है.  मुझे लगता है कि जनता पर जो असर पड़ रहा है, उससे सरकार को अवगत कराया जाये. संशोधन को लेकर मुख्यमंत्री को फिर से विचार करना चाहिए. जनता के हित में फैसला लिया जाना चाहिए. फैसला लेने से पहले सोचना चाहिए कि इसका दूरगामी परिणाम पड़ेगा या शाॅर्ट टर्म में इसका लाभ दिखेगा. मुख्यमंत्री रघुवर दास को पत्र भी लिखा, लेकिन अब तक कोई कदम नहीं उठाया गया है.
प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि सीएनटी व एसपीटी को लेकर विपक्ष की हवा में किसी को बहने की जरूरत नहीं है. अगर किसी को आपत्ति है, तो हम खुले मंच पर बात करने को तैयार हैं. सरकार का दरवाजा हमेशा खुला है. आदिवासी के नाम पर राजनीति करनेवालों को किसी भी हाल में बरदाश्त नहीं किया जायेगा. मुख्यमंत्री ने कहा : सीएनटी व एसपीटी एक्ट में संशोधन व सरलीकरण का जो काम किया गया है, वह राज्यहित में है. इसको लेकर अर्जुन मुंडा ने भी सुझाव दिया है. मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा के भाषण के बाद बैठक को संबोधित कर रहे थे.
हमारी नीति व नीयत साफ : मुख्यमंत्री ने कहा : हमारी नीति व नीयत साफ है. कुछ लोग हैं, जो आदिवासी के नाम पर सिर्फ राजनीति कर रहे हैं. आदिवासियों को गरीब बना कर उनके नाम पर अपने स्वार्थ की रोटी सेंक रहे हैं. ऐसे लोगों को किसी भी हाल में बरदाश्त नहीं कर सकते. उन्होंने कहा : धारा के विपरीत तैर कर दिखाना ही जीत कहलाता है,  लेकिन विरोधी की ही हवा में बहना कोई चालाकी नहीं है. घर में कई तरह के विवाद होते रहते हैं. भाजपा में भी कुछ मतभेद हो सकते हैं, लेकिन मनभेद होना अच्छा नहीं है.
जनता सबकुछ देखती है : मुख्यमंत्री ने कहा : कोई राजनीतिक क्षेत्र में आया है, तो उसको यह सोचना चाहिए कि वह जनता के बीच है. जनता सबकुछ देखती है. कुछ लोग हैं, जो अपना निजी एजेंडा पार्टी पर लागू करना चाहते हैं, जिन्हें कार्यकर्ता कभी भी बरदाश्त नहीं करेंगे. हम लोगों ने जनता के बीच जाने का फैसला लिया है और विरोधियों की हवा को अपनी ओर मोड़ने में भाजपा के लोग सक्षम हैं.

Leave a Reply