क़तर कही द्वीप न बन जाए सऊदी अरब की इस योजना से

सऊदी

रियाद : सऊदी अरब एक ऐसी योजना पर काम कर रहा है जिसके चलते पड़ोसी देश कतर एक द्वीप बन कर रह जायेगा . सऊदी अरब के एक अधिकारी ने संकेत दिए हैं कि उनका देश ऐसी नहर की खुदाई की योजना के साथ आगे बढ़ रहा हो जो पड़ोसी देश कतर को द्वीप में तब्दील कर देगी.

शहजादे मोहम्मद बिन सलमान के वरिष्ठ सलाहकार सऊद अल-कहतानी ने शुक्रवार को कहा, ‘मैं सलवा द्वीप परियोजना के लागू होने की विस्तृत जानकारी की बेसब्री से इंतजार कर रहा हूं, जो इस क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति को बदल देगा.’

इस परियोजना के लागू होने के बाद सऊदी अरब से कतर प्रायद्वीप अलग-थलग हो जाएगा. पिछले 14 महीने से सऊदी अरब और कतर के बीच तनाव की स्थिति बनी हुई है, जिसमें यह योजना विवाद का नया कारण बनेगी.

सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, बहरीन और मिस्र ने कतर पर आतंकवाद को समर्थन देने और ईरान के बेहद करीब होने का आरोप लगाते हुए जून, 2017 में उसके साथ कूटनीतिक और कारोबारी संबंध खत्म कर लिये थे. इस आरोप से कतर इनकार करता रहा है.

इस साल अप्रैल में सरकार समर्थित सब्क समाचार वेबसाइट की रिपोर्ट आई थी, जिसमें बताया गया था कि सरकार 60 किलोमीटर लंबी और 200 मीटर चौड़ी नहर बनाने की योजना बना रही है जो कतर के साथ देश की सीमा तक होगी.

इस योजना पर सऊदी अरब के अधिकारियों ने टिप्पणी नहीं की है और न ही कतर की तरफ से इस पर कोई प्रतिक्रिया आई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *