मुख्यमंत्री ने अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस पर जनता को दी बधाई

रायपुर, मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह ने  आठ सितम्बर को अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस के अवसर पर जनता को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। साक्षरता दिवस की पूर्व संध्या पर आज यहां जारी शुभकामना संदेश में कहा है कि किसी भी राज्य और देश के सामाजिक-आर्थिक विकास में साक्षरता और शिक्षा की बहुत बड़ी भूमिका होती है। साक्षरता और शिक्षा से ही विकास के दरवाजे खुलते हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा – यह खुशी की बात है कि हमारे देश में साक्षरता अभियान के तहत साक्षर भारत कार्यक्रम एक व्यापक जन आंदोलन बन गया है। स्कूली शिक्षा का भी विस्तार तेजी से हुआ है। बच्चों के साथ-साथ प्रौढ़ लोगों में भी साक्षरता का प्रतिशत काफी बढ़ा है। मुख्यमंत्री ने इस बात पर भी खुशी जताई कि केन्द्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं से छत्तीसगढ़ में भी नई पीढ़ी के लिए शिक्षा के व्यापक अवसर विकसित हुए हैं और साक्षर भारत कार्यक्रम को भी अच्छी सफलता मिली है। इसके फलस्वरूप राज्य में साक्षरता की दर विगत लगभग 14 वर्ष में 65.18 प्रतिशत से बढ़कर 71.04 प्रतिशत हो गई है।
मुख्यमंत्री ने कहा – छत्तीसगढ़ सरकार की सरस्वती सायकिल योजना से हाई स्कूलों में बालिकाओं की दर्ज संख्या 65 प्रतिशत से बढ़कर लगभग 95 प्रतिशत तक पहुंच गई है। अनेक हाई स्कूलों में बालकों की तुलना में बालिकाओं की संख्या अधिक हो गई है। इससे यह स्पष्ट होता है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ का जो आव्हान देशवासियों से किया है, वह छत्तीसगढ़ में तेजी से साकार हो रहा है।
उल्लेखनीय है कि यूनेस्को ने 17 नवम्बर 1965 को पूरी दुनिया में आठ सितम्बर के दिन साक्षरता दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की थी। पहली बार यह दिवस 1966 में मनाया गया था।

Leave a Reply