मप्र में तूफानी बारिश जनजीवन प्रभावित

बारिश

भोपाल। ओडिसा में तबाही मचाने के बाद ‘डे’ नाम के तूफान का असर अब मध्यप्रदेश पर दिखाई देने लगा है। प्रदेश के 26 जिलों में तूफानी बारिश हो रही है।

इस दौरान खंडवा में 1 मौत हो गई, कई घरों में पानी भर गया। 7 जिलों में जन जीवन प्रभावित हुआ है। जिन जिलों में जलभराव हुआ उनमें टीकमगढ़, भिण्ड, शिवपुरी, दतिया, उमरिया, खण्डवा और नीमच शामिल हैं।

खंडवा में रातभर हुई तेज बारिश के बाद हालात बदतर हो गए हैं। तेज बारिश से कई इलाके जलमग्न हो गए हैं। संत रैदास वार्ड में कच्ची दीवार गिरने से एक वृद्धा की मौत हो गई।

वहीं हरसूद में बारिश के चलते नदी-नाले उफान पर हैं, जिस कारण खंडवा-होशंगाबाद मार्ग पर आशापुर में अग्नि नदी और भामगढ़ में छोटी तवा नदी का पुल डूब गया है।

लगातार तेज बारिश से उज्जैन में भी नदी-नाले उफान पर आ गए हैं। शिप्रा नदी का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। वहीं उज्जैन की लाइफ लाइन कहे जाने वाला गंभीर बांध ओवरफ्लो हो गया है, जिस कारण उसके गेट खोल दिए हैं।

शाजापुर में भी 24 घंटे में करीब 50 मिमी बारिश हुई है। देवास में भी रातभर से बारिश होने से कई ग्रामीण रास्तों पर आवागमन बंद हो गया है।

उड़ीसा से आगे बढ़कर अति अबदाब का क्षेत्र विदर्भ में ब्रह्मपुरी तक पहुंचने के बाद प्रदेश में मानसून दे दस्तक दी है। एक बार फिर बने इस सिस्टम के कारण इंदौर, उज्जैन और ग्वालियर संभाग में शनिवार को अच्छी बारिश हो रही है।

वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि अबदाब (डिप्रेशन) का क्षेत्र विदर्भ से आगे बढ़ रहा है। प्रदेश के कई स्थानों पर तेज बारिश होने की संभावना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *