भारत ने रूस से खरीदी S-400 मिसाइल नहीं की ट्रम्प की परवाह

मिसाइल

नई दिल्ली: भारत के दो दिवसीय दौरे पर आए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ भारत ने आज अमेरिका की परवाह किए बिना ही  रूस के साथ एस-400 मिसाइल की खरीद की डील पर साइन कर दिए।

रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच आज हुई 19वीं भारत-रूस वार्षिक शिखर बैठक के दौरान इस डील पर करार हुआ।

भारत 5.43 अरब डॉलर यानी लगभग 40 हजार करोड रुपए में रूस से मिसाइलों के पांच स्क्वैड्रन खरीदेगा। मिसाइलों की आपूर्ति दो साल बाद शुरू हो जाएगी।

यानि कि भारतीय वायुसेना को 2020 तक यह मिसाइल मिल जाएगी। वहीं रूस पीएम मोदी के मिशन गगनयान-2022 को पूरा करने में भी सहयोग देगा।

बैठक में जहां रूसी राष्ट्रपति के साथ एक उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल मौजूद रहा जिसमें उप-प्रधानमंत्री यूरी बोरिसोव, विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव और व्यापार एवं उद्योग मंत्री डेनिस मंतुरोव शामिल हैं।

वहीं बैठक में भारतीय केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण भी मौजूद रहीं।

रूस-भारत के बीच  समझौते

1. दोनों देशों के बीच जिन आठ करारों पर हस्ताक्षर किए गए उनमें परामर्श के प्रोटोकॉल को विस्तार देने
2. नीति आयोग एवं रूस के आर्थिक सहयोग मंत्रालय के बीच सहयोग
3. अंतरिक्ष के क्षेत्र में इसरो एवं रोसकास्मॉस के बीच सहयोग
4. रेलवे
5. परमाणु
6. परिवहन
7. शिक्षा
8. लघु उद्योगों के क्षेत्रों में सहयोग
9. खाद के क्षेत्र में इंडियन पोटाश लिमिटेड और फोसएग्रो के बीच समझौते पर भी दस्तखत हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *