माल्या के प्रत्यर्पण की लंदन कोर्ट ने दी मंजूरी

लंदन : भारतीय के शराब कारोबारी विजय माल्या को लंदन कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। कोर्ट ने उनके  भारत प्रत्यर्पण को मंजूरी दे दी।  अगुस्ट वेस्टलैंड केस में कथित बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल के  प्रत्यर्पित के बाद सरकार के लिए यह दूसरी बड़ी उपलब्धि  है।

लंदन की वेस्टमिंस्टर कोर्ट में जज एम्मा अर्बथनॉट ने यह फैसला सुनाया। CBI ने कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है। अब माल्या के प्रत्यर्पण का मामला सेक्रटरी ऑफ स्टेट (होम अफेयर्स) साजिद जाविद के पास भेज दिया गया है।

किंगफिशर एयरलाइंस के प्रमुख रहे 62 वर्षीय माल्या पर करीब 9,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप है। पिछले साल अप्रैल में प्रत्यर्पण वॉरंट पर गिरफ्तारी के बाद से माल्या जमानत पर है।

गौरतलब है कि माल्या अपने खिलाफ मामले को राजनीति से प्रेरित बताता रहा है। फैसले से पहले माल्या ने ट्वीट कर कहा, ‘मैंने एक भी पैसे का कर्ज नहीं लिया। कर्ज किंगफिशर एयरलाइंस ने लिया था।

कारोबारी विफलता की वजह से यह पैसा डूबा है। गारंटी देने का मतलब यह नहीं है कि मुझे धोखेबाज बताया जाए।’ उन्होंने  कहा कि मैंने मूल राशि का 100 प्रतिशत लौटाने की पेशकश की है।

इसे स्वीकार किया जाए। आपको बता दें कि विजय माल्या के खिलाफ प्रत्यर्पण का मामला मैजिस्ट्रेट की अदालत में पिछले साल 4 दिसंबर को शुरू हुआ था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *