जो वंदे मातरम् नहीं गाते क्या वो देशभक्त नहीं? कमलनाथ

भोपाल: मध्य प्रदेश सचिवालय में महीने की पहली तारीख को वंदे मातरम् गाने की 13 साल पुरानी परंपरा के टूटने पर शिवराज सिंह चौहान और कमलनाथ आमने-सामने आ गए हैं.

मध्य प्रदेश में वंदे मातरम् नहीं गाने पर शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस पर हमला बोला तो इसके तुरंत बाद कमलनाथ ने भी पलटवार कर दिया. दरअसल इससे पहले बीजेपी की सरकार में महीने के पहले कामकाजी दिन सचिवालय में राष्ट्र गीत गाया जाता था.

मगर इस बार कमलनाथ सरकार में साल के पहले दिन ही इसका पालन नहीं हो सका और इस तरह से 13 साल पुरानी परंपरा टूट गई. इसे लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हमला बोलते हुए कहा कि अगर कांग्रेस को राष्ट्रगीत गाने में शर्म आती है तो वह खुद सचिवालय में वंदे मातरम् गाएंगे. हालांकि, इस पर पलटवार करते हुए कमलनाथ ने कहा कि जो वंदे मातरम् नहीं गाते हैं क्या वोह देशभक्त नहीं हैं?

हालांकि, इस पर कमलनाथ ने शिवराज सिंह चौहान पर पलटवार किया है. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि ‘इस आदेश को नए रूप में लागू किया जाएगा. इसके अलावा उन्होंने पूछा कि जो वंदे मातरम् नहीं गाते क्या वो राष्ट्रभक्त नहीं हैं?’

शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा था कि ‘कांग्रेस यह भूल गई है कि सरकारें आती हैं जाती हैं लेकिन देश और देशभक्ति से ऊपर कुछ नहीं है. मैं मांग करता हूं कि वंदे मातरम का गाना हमेशा की तरह हर कैबिनेट की मीटिंग से पहले और हर महीने की पहली तारीख को हमेशा की तरफ वल्लभ भवन के प्रांगण में हो.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *