मैच जिताऊ प्लेयर है रिषभ पंत : सौरव गांगुली

नई दिल्ली : भारत के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली ने एक बार फिर रिषभ पंत की जमकर तारीफ करते हुए उनको एक मैच विजेता खिलाड़ी बताया है। गांगुली ने सिडनी टेस्ट मैच में नाबाद 159 रन की शतकीय पारी खेलने वाले रिषभ पंत को अगले साल इंग्लैंड में होने वाले आईसीसी विश्व कप में खिलाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि पंत वनडे विश्व कप में भारत के लिए मैच विजेता ​साबित होंगे। सौरव गांगुली ने कहा, ‘वह एक शानदार प्लेयर है। मैं चयनकर्ताओं से कहना चाहूंगा कि उसे आगामी वनडे विश्व कप में जरूर खिलाना चाहिए। क्योंकि वह भारत के लिए विश्व कप में मैच विनर साबित हो सकता है। वह नंबर 4 पर बल्लेबाजी के लिए उतर सकता है क्योंकि उसके पास शानदार बैटिंग स्टाइल है। वह तेज गेंदबाजों को आसानी से खेलता है और बाउंड्री हासिल करता है।’

सौरव गांगुली ने कहा कि रिषभ पंत को ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के साथ होने वाले वनडे सीरीज के लिए भी भारतीय टीम में चुना जाना चाहिए था। गौरतलब है कि इन दोनों ही वनडे सीरीज के लिए रिषभ पंत को ड्रॉप कर महेंद्र सिंह धौनी को टीम में जगह दी गई है। सौरव गांगुली ने कहा, ‘पहले दो टेस्ट मैचों में उसने अपना विकेट फेक दिया था। लेकिन सिडनी टेस्ट में उसने संयमित बल्लेबाजी की। वह भारतीय क्रिकेट के लिए एक संपत्ति है। उसकी विकेटकीपिंग भी समय के साथ सुधर जाएगी और वह भारत के लिए 10 से 15 साल तक क्रिकेट खेलेगा। इसलिए मैं चयनकर्ताओं से चाहूंगा कि वे ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के साथ होने वाली वनडे सीरीज के लिए चयनित टीम में एक अतिरिक्त खिलाड़ी के लिए जगह बनाएं और रिषभ पंत को शामिल करें।’

दादा ने कहा, ‘आपको ऐसे क्रिकेटर्स की जरूरत होती है जो आपके लिए मैच का रुख बदल सके। रोहित शर्मा, शिखर धवन और विराट कोहली यह माद्दा रखते हैं। इन तीनों के बाद रिषभ पंत एक ऐसा खिलाड़ी है जो मैच का पासा अपने दम पर पलटने का माद्दा रखता है। इसके अलावा और कोई प्लेयर ऐसा नहीं दिखता। अंबाती रायुडू, केदार जाधव और महेंद्र सिंह धौनी अपने तरीके से खेलेंगे। लेकिन यह लड़का 5 ओवर में मैच का रुख मोड़ सकता है। इसलिए उसका ध्यान रखा जाना जरूरी है।’ महेंद्र सिंह धौनी की वनडे टीम में वापसी के बाद ऐसा माना जा रहा है कि 2019 में इंग्लैंड में खेले जाने वाले वनडे विश्व कप में रिषभ पंत को शायद मौका न मिले। धौनी का यह आखिरी अंतरराष्ट्रीय सीरीज भी हो सकता है। ऐसे पूरे आसार हैं कि वह वनडे विश्व कप के बाद क्रिकेट को अलविदा कह देंगे।