कांग्रेस जो कहती है, वो करती है, जनता की खुशहाली कांग्रेस का संकल्प – तिवारी

रायपुर, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा चिटफंड कंपनियों के एजेंटो पर दर्ज मामले वापस लेने की घोषणा प्रदेश के लाखों शहरी-ग्रामीण युवाओं के साथ-साथ पालकों को राहत देने वाला निर्णय है।चिटफंड कंपनियों के एजेंटो पर दर्ज मामले वापस लेने के निर्णय का स्वागत करते हुए छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता घनश्याम राजू तिवारी ने जारी एक बयान में कहां कि, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल प्रशंसा के काबिल है, लगातार जनहित में 16 लाख 65 हजार कृषिको का ऋण माफ, धान का मूल्य प्रतिकि्ंवटल 2500 रूपये, तेंदुपत्ता मानक दर प्रति बोरा 2500 से 4000 रू., महाविद्यालयों में रिक्त 1384 पदों पर भर्तियों की शुरूआत, नान मामलो पर एसआईटी की गठन, जीरम की घटना पर एसआईटी का गठन, संविदा कर्मियों की नियमितीकरण की पहल, 5 डिस्मील से कम की जमीनो की रजिस्ट्री पर लगी रोक हटाने का निर्णय, बस्तर में टाटा कंपनी के द्वारा आदिवासीयों की जमीन वापसी जैसे बड़े फैसले लेकर प्रदेश के मुखिया ने न सिर्फ छत्तीसगढ़ की जनता का दिल जीता है, बल्कि जनता से किये गयें वायदों को समय पूर्व तवरित निर्णय लेकर बड़ी राहत देने का कार्य किया है। चिटफंड कंपनियों के अभिकर्ताओं ने विधानसभा चुनाव के पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल से अपनी तकलीफो को लेकर गुहार लगायी थी, जिसे कांग्रेस पार्टी ने अपने घोषणा पत्र में उल्लेखित किया था। राज्य में भाजपा की पिछली सरकार ने चिटफंड कंपनियों के नाम पर करोड़ो रूपये की हेराफेरी को बढ़ावा देकर राज्य में युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ किया हैं। प्रदेश में लाखो शिक्षित युवा बेरोजगारी के अभाव में चिटफंड कंपनियों के मायाजाल में फंसकर साजिश के शिकार होते रहे, कंपनी के मालिक रूपये लेकर फरार हो गये, अभिकर्ता, एजेंट के रूप मे कार्य करने वाले युवाओं पर पिछली सरकार ने एफआइआर दर्ज कराकर प्रताड़ित करती रही है, जिससे उनके परिजन और खुद युवा हताश और निराश हो चुके थे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एजेंटो पर दर्ज एफआइआर वापस लेने का निर्णय लेकर बड़ी राहत देने का कार्य किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *