ऋषिकेश. देश के प्रसिद्ध चार धामों में से एक श्री बद्रीनाथ धाम के कपाटोद्घान की तिथि घोषित कर दी गई है. धाम के कपाट आगामी छह मई को ब्रह्‌ममुहूर्त में 4.15 बजे खोले जाएंगे.

जबकि, भगवान बदरी विशाल के अभिषेक में प्रयुक्त होने वाले तिल के तेल का कलश (गाडू घड़ा) 22 अप्रैल को नरेंद्रनगर स्थित राजमहल से बद्रीनाथ धाम के लिए रवाना होगा.

वसंत पंचमी पर बुधवार को नरेंद्रनगर राजमहल में विधि-विधान के साथ श्री बद्रीनाथ धाम के कपाट खोलने की तिथि निकाली गई.

पूजन-अर्चन और हवन के साथ राजपुरोहित कृष्ण प्रसाद उनियाल व संपूर्णानंद जोशी ने पंचांग गणना कर शुभ मुहूर्त तय किया.

इसके बाद दशकों पुरानी परंपरा के अनुसार टिहरी राजघराने के मुखिया महाराजा मनुजेंद्र शाह ने कपाट खुलने की तिथि छह मई को ब्रह्‌ममुहूर्त में 4.15 बजे और तेल कलश (गाडू घड़ा) के राजमहल से प्रस्थान