छात्र अब दो जगहों पर नहीं ले सकेंगे प्रवेश, आधार नंबर अनिवार्य

डबरा. नए शिक्षा सत्र में छात्रों को अब कॉलेज में प्रवेश तभी मिलेगा, जब छात्रों के पास बैंक अकांउट, आधार कार्ड व नेट बैंकिंग की सुविधा मौजूद रहेगी. इसके बगैर छात्रों को प्रवेश मिलना मुश्किल होगा. यह निर्णय उच्च शिक्षा विभाग ने लिया है. उच्च शिक्षा विभाग ने कॉलेज प्रबंधन को निर्देश जारी किया है कि छात्र 12वीं के बाद कॉलेज में प्रवेश के दौरान अनिवार्य रूप से बैंक अकाउंट नंबर व आधार कार्ड जमा कराएं.

बैंक अकाउंट आधार कार्ड से लिंक हैं, इसलिए आधार कार्ड भी अनिवा

र्य कर दिया है. इसके साथ छात्रों को नेट बैकिंग या डेबिट कार्ड में से एक विकल्प चुनना होगा. यह नियम सरकारी, निजी व अनुदान प्राप्त तीनों कैटेगरी के कॉलेज पर लागू होगा.

प्रवेश की प्रक्रिया आधार कार्ड से जुड़ने पर फर्जीवाड़ा भी काफी हद तक कम होगा. खास तौर पर उन छात्रों के लिए यह नियम अनिवार्य हैं, जिन्हें छात्रवृत्ति की सुविधा प्राप्त है. वैसे भी शासन द्वारा सरकारी अनुदान प्राप्त और प्राइवेट कॉलेजों में फीस कैशलैस ही जमा कराने का निर्देश जारी किया गया है. सभी कॉलेजो मे नए सत्र से ऑनलाइन फीस जमा कराना अनिवार्य होगा. इससे छात्रों का पूरा रिकार्ड आधार कार्ड से जुड़ा होने से स्कॉलरशिप संबंधी स्थिति भी एक क्लिक करते ही स्पष्ट हो जाएगी.

छात्रवृति के चक्कर में छात्र दो-दो जगहों पर लेते हैं प्रवेश

बीए, बीएससी, बीएसडब्लू समेत अन्य कोर्सों में कुछ छात्र ऐसे भी हैं, जो छात्रवृति के लिए दो-दो जगहों से फार्म भरते हैं. इस संबध में कई बार शिकायते भी मिलती हैं. नया नियम लागू होने से छात्र को प्रवेश के दौरान आधार कार्ड लगाना होगा. इससे वह दूसरी जगह पर प्रवेश नहीं ले सकेगा. इस संबंध में वृंदासहाय कॉलेज की प्राचार्य डॉ. ऊषा सिंह ने कहा कि उच्च शिक्षा विभाग से नियमों में बदलाव से संबंधित निर्देश मिल चुके हैं. निर्देशों के अनुरूप ही कार्य किया जाएगा.

Leave a Reply