जानिए आखिर क्यू आरजेडी के नेता तेजस्वी यादव कन्हैया के साथ मंच साझा नहीं करना चाहते

बिहार में महागठबंधन की पार्टियों के बीच सीटों के बंटवारे का एलान हो गया है। महागठबंधन में आरजेडी 40 में से 20 सीटों पर कांग्रेस 9 सीटों, RLSP 5 सीट जीतन राम मांझी की पार्टी हम 3 सीटों पर और VIP 3 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। महागठबंधन की सीटों का ऐलान करते हुए आजेडी प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पुर्वे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि राजद 20, कांग्रेस 9 और रालोसपा 5 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे।इस गठबंधन में सीपीआई को हिस्सेदार नहीं बनाया गया है। जिससे यह साफ हो गया है कि कन्हैया कुमार को गठबंधन ने बेगुसराय से टिकट नहीं मिली है। सीपीआई के बिहार प्रदेश सचिव सत्यनारायण सिंह ने बीबीसी से बातचीत में कहा कि सीपीआई को गठबंधन में शामिल नहीं किया गया है लेकिन कन्हैया कुमार उनकी पार्टी की तरफ़ से बेगुसराय से चुनाव लड़ेंगे। कन्हैया कुमार की तरफ़ से फ़िलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं मिल सकी है। 11 अप्रैल को होने वाले पहले चरण के चुनाव के लिए उम्मीदवारों के नाम की भी घोषणा कर दी गई है। गया से जीतन राम मांझी, नवादा से राजद की विभा देवी, जमुई से आरएलएसपी के भूदेव चौधरी, औरंगााबाद से हम के उपेंद्र प्रसाद चुनाव लड़ेंगे।जानकारों की माने तो आरजेडी के नेता तेजस्वी यादव कन्हैया के साथ मंच साझा नहीं करना चाहते क्योंकि कन्हैया उनसे बेहतर वक्ता हैं। बेगुसराय से भाजपा ने अपने उम्मीदवार की घोषणा कर दी है। भाजपा से गिरीराज सिंह चुनाव लड़ रहे है। इसके पहले यह कहा जा रहा था कि गठबंधन से कन्हैया को टिकट मिल सकती है।

Leave a Reply