रांची: महेंद्र सिंह धोनी की गिनती टीम इंडिया के सबसे सफल कप्‍तानों में की जाती है. धोनी की सबसे बड़ी विशेषता यह थी कि मुश्किल परिस्थितियों में भी वे आपा नहीं खोते थे. इसी कारण उन्‍हें ‘कैप्‍टन कूल’ का संबोधन मिला था. टीम इंडिया के पूर्व कप्‍तान और झारखंड के ब्रांड एम्बेसडर महेन्द्र सिंह धोनी ने आज यहां कहा कि अच्‍छा टीम लीडर भी अच्‍छी टीम के बिना पूरी तरह सफल नहीं हो सकता. धोनी ने कहा कि अच्छा टीम लीडर, अच्छी टीम के बिना पूरी तरह कामयाब नहीं हो सकता क्योंकि उसके प्रयास अधूरे साबित होते हैं. ‘मोमेंटम झारखंड’ कार्यक्रम में आज यहां विश्व निवेशक सम्मेलन को संबोधित करते हुए धोनी ने कहा कि झारखंड को आगे बढ़ने के लिए एक अच्छी टीम के रूप में काम करना होगा जिसमें केवल अच्छे टीम लीडर की ही नहीं बल्कि उसके साथ पूरी टीम का भी अच्छा होना आवश्यक है.

धोनी ने देश और विदेश से आये तमाम निवेशकों को न्‍योता देते हुए कहा, ‘झारखंड को लेकर हमेशा एक मामला सुरक्षा का उठाया जाता है लेकिन मैं आश्वासन दे सकता हूं कि यहां व्यापार के मामले में देश के अन्य राज्यों के बराबर ही सुरक्षित माहौल है.’ उन्होंने कहा, ‘झारखंड के बारे में मैं बचपन से ही केवल खनिज संपदा की बात सुनता हूं लेकिन फक्र की बात है कि आज राज्य मटर और आलू के उत्पादन में भी देश में दूसरे स्थान पर आ गया है.’उन्होंने कहा कि राज्य में अनेक अन्य क्षेत्रों में तेजी से विकास हो रहा है लेकिन उसका प्रभाव यहां पिछले पंद्रह वर्षों में लगातार व्याप्त रही राजनीतिक अस्थिरता के कारण हमें देखने को नहीं मिल सका है. धोनी ने कहा, ‘अब राज्य में राजनीतिक स्थिरता भी आ गई है और एक अच्छी टीम भी राज्य का नेतृत्व कर रही है ऐसे में मैं एक ही नारा देकर जाऊंगा कि यहां काम करने में आप की सफलता में ही हम अपनी सफलता का आकलन करेंगे.’