सतना जिले में बेटी की हत्या कर फंदे पर झूल गया पिता

सतना. शहर के नईबस्ती इलाके में बेटी की शादी के लिए आने वाले रिश्ते बार-बार टूट जाने से निराश पिता ने पहले तो बेटी की गला घोंटकर हत्या कर दी. इसके बाद खुद भी फांसी के फंदे में लटक गया, जिससे उसकी मौत हो गई.

घटनास्थल से जांच के दौरान पुलिस ने एक सुसाइड नोट बरामद किया है. जिसमें बाप-बेटी की संदिग्ध मौत का पता चल सका है. फिलहाल पुलिस सुसाइड नोट की जांच करा रही है और विवेचना में जुटी हुई है.

समाज के बहिष्कार से बेटी की शादी टूट रही थी बार-बार

घटना के अनुसार कोलगवां थाना अंतर्गत नईबस्ती निवासी सुरेश सेन (45) पिता रामप्रताप सिंह के दो बेटे और एक बेटी थी. उसके बड़े बेटे मनीष सेन (24) ने दो साल पहले दूसरे जाति की लड़की को भगाकर प्रेम विवाह कर लिया था.

तब से ही सुरेश सेन के परिवार से समाज के लोगों ने रिश्ते-नाते खत्म कर लिए थे. बेटी मनीषा 22 वर्ष आदित्य इंजीनियरिंग कॉलेज में तृतीय वर्ष की पढ़ाई कर रही थी. पिता ने उसकी शादी की बात कई जगह चला रखी थी, लेकिन बड़े बेटे मनीष द्वारा किए गए प्रेम विवाह के चलते बेटी मनीषा की शादी हर जगह टूट रही थी.

जिससे परेशान होकर सोमवार की रात सुरेश सेन ने कमरे में अकेले सो रही बेटी का गला घोटकर उसकी हत्या कर दी और फिर फांसी के फंदे में झूलकर खुद आत्महत्या कर लिया.

सुसाइड नोट बरामद

घटना के दौरान सुरेश सेन की पत्नी प्रतिमा सेन (40) तथा छोटा बेटा योगेश सेन (20) घर की पहली मंजिल पर सो रहा था. जबकि बड़ा बेटा अपनी पत्नी के साथ रीवा में रहता है. मंगलवार सुबह जब पत्नी उठी तो उसने जवान बेटी और पति की लाश देखकर शोर मचाना शुरू कर दिया.

सूचना मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर छानबीन की, जहां एक पन्ने का सुसाइड नोट बरामद किया गया है. जिसमें सुरेश सेन ने लिखा है कि मैं अपने परिवार को किसी पर बोझ नहीं बनाना चाहता इसलिए मैंने अपनी बेटी की हत्या कर खुद आत्महत्या कर रहा हूं.

घटना की जांच कर रहे टीआई इंद्रेश त्रिपाठी ने बताया कि सुसाइड नोट की जांच कराई जा रही है और परिजनों से पूछताछ कर घटना के पीछे के मुख्य कारणों का पता लगाया जा रहा है.

Leave a Reply