ममता से मुलाकात के बाद डोक्टरों ने वापस ली हड़ताल

ममता से मुलाकात के बाद डोक्टरों ने वापस ली हड़ताल
ममता से मुलाकात के बाद डोक्टरों ने वापस ली हड़ताल

कोलकाता : ममता से मुलाकात के बाद डोक्टरों ने वापस ली हड़ताल इसके बाद मरीजो ने चैन की साँस ली है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ बैठक में सुरक्षा को लेकर मिले आश्वासन के बाद जूनियर डॉक्टरों ने हड़ताल खत्म करने की घोषणा की है।

प्रदेश में चिकित्सकों और सीएम ममता बनर्जी के बीच हुई बातचीत के बाद मुख्यमंत्री ने कोलकाता के पुलिस कमिश्नर अनुज शर्मा को हर अस्पताल में एक नोडल पुलिस ऑफिसर की तैनाती के निर्देश दिए। इसके अलावा चिकित्सकों की मांग पर हर सरकारी अस्पताल में एक शिकायत निवारण सेल बनाने का निर्णय भी लिया गया है।

ममता बनर्जी से मुलाकात के बाद कोलकाता के एनआरएस मेडिकल कॉलेज के चिकित्सकों ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘हम सीएम ममता बनर्जी के प्रति अपना आभार व्यक्त करते हैं। एक पूरे अभियान के बाद मुख्यमंत्री से हमारी बातचीत एक सार्थक परिणाम पर पहुंची है।

इस बातचीत के बाद हर पहलू पर विचार करते हुए हम उम्मीद करते हैं कि सरकार सभी मुद्दों का तय समय में समाधान करेगी। इसके अलावा हम उन सभी आम लोगों, जूनियर और सीनियर चिकित्सकों और मेडिकल फर्टीनिटी से जुड़े लोगों का भी आभार व्यक्त करते हैं जिन्होंने इस लड़ाई में हमारा साथ दिया।’

इधर डोक्टरों की हड़ताल खत्म होने से मरीजो में ख़ुशी है वही पश्चिम बंगाल के राज्यपाल ने केशरी नाथ त्रिपाठी ने भी इस फैसले का स्वागत किया। राजभवन ने अपने एक बयान में कहा, ‘राज्यपाल चिकित्सकों के खिलाफ हिंसा के बाद हुई हड़तालों और इसके कारण पैदा हुए संकटों के समाधान पर खुश हैं .

राज्यपाल इस बात से भी संतुष्ट हैं कि बंगाल में सीएम और डॉक्टरों के बीच बैठक में एक सार्थक परिणाम निकला है। राज्यपाल अपेक्षा करते हैं कि चिकित्सक जल्द ही मरीजों के उपचार के अपने काम पर वापस लौटेंगे और राज्य सरकार भी बैठक में किए गए अपने वादों पर अमल करेगी।’

यह भी पढ़े : आज देश भर के डॉक्टर सुरक्षा की मांग को लेकर हड़ताल पर

बता दें कि रविवार को पश्चिम बंगाल में राज्‍य सरकार के खिलाफ पिछले 6 दिनों से हड़ताल कर रहे डॉक्टरों ने वार्ता पर सहमति जताई थी। रविवार को आंदोलन कर रहे डॉक्टरों ने कहा था कि वे प्रदर्शन खत्म करने के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बातचीत को तैयार हैं, लेकिन मुलाकात की जगह वे बाद में तय करेंगे।

पूर्व में डॉक्टरों ने ममता बनर्जी से बातचीत पर सहमति जताई थी, लेकिन उनका कहना था कि यह बात बंद कमरे में नहीं बल्कि मीडिया कैमरों के सामने होगी। इसके बाद ममता बनर्जी सरकार ने मीडिया को भी राज्य में होने वाली इस बैठक की लाइव कवरेज की अनुमति दी थी।