समाज का आईना है आर्टिकल 15 – सावित्री

भारतीय समाज के नवनिर्माण के लिए एक बड़ा संदेश है आर्टिकल 15

जाति समीकरण, गरीबी, महिलाओं की दुर्दशा, कानून व्यवस्था पर कड़ा प्रहार आर्टिकल 15

गांड़ा महासभा के 100 सामाजिक कार्यकर्ताओ ने देखी फ़िल्म

रायपुर छत्तीसगढ़ दिनांक 30 जून 2019। गांड़ा महासभा महिला विभाग की अध्यक्ष व सामाजिक कार्यकर्ता श्रीमती सावित्री जगत ने कहा जाति समीकरण, गरीबी, महिलाओं की दुर्दशा और कानून व्यवस्था दुरुपयोग करने के संबंध में देशभर में धूम मचाने वाली संविधान की आर्टिकल 15 संवेदनशील विषय पर आधारित फिल्म आज देश भर में धूम मचा रही है और चर्चा का विषय बनी हुई है जो समाज की कड़वी सच्चाई को प्रदर्शित करती है। इस फिल्म को देखने के लिए आज गांड़ा महासभा के 100 सामाजिक कार्यकर्ता महिला अध्यक्ष श्रीमती सावित्री जगत के अगुवाई में राजधानी के अंबुजा माल पहुंचे और फ़िल्म देखें। फ़िल्म देखने के पश्चात प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए श्रीमती सावित्री जगत ने कहा आर्टिकल 15 समाज आईना है जो आज़ादी के 70 साल बाद भी भारतीय समाज मे व्याप्त उच्च नीच, भेदभाव, जातिवाद का, महिला अत्याचार और कानून व्यवस्था पर कड़ा प्रहार करता है। बॉलीवुड के मसालेदार और मनोरंजन फिल्मो से दूर यह फ़िल्म भारतीय समाज के नव निर्माण के लिए एक बड़ा संदेश देता है।*

महासभा के संयोजक श्री रघुचन्द निहाल ने कहा यह फ़िल्म कास्ट सिस्टम पर विश्वास करने वालों को सोचने पर मजबूर कर देगा और समाज मे एक नई जागृति आएगी।

 

*अम्बुजा माल में आज प्रमुख रूप से श्रीमती सावित्री जगत सहित महासभा के संयोजक श्री रघुचन्द निहाल रघुचंद निहाल, नारायण बाग,कमने सोना, डमरूधर दीप, बंटी निहाल, सुरेंद्र बघेल, संतोष निहाल,नीरू नायक, सुशील दीप, हरिचरण महानंद, मंगल छत्री, अमर दीप, जयलाल नायक, आनंद नायक, भास्कर नायक, सारथी महानंद, सन्नी बाघ, दिनेश बाग, रोशनी बाघ, नीतू तांडी, जया बाई, शीला तांडी, गंगा नाग, प्रेम लता सोना, भारती तांडी, सुप्रिया, पूजा, तुलदी, जीरा नाग सहित बड़ी संख्या में सामाजिक कार्यकर्ताओ ने फ़िल्म देखी।*

Leave a Reply