सिंधु जल संधि पर भारत-पाकिस्तान के बीच जल्द शुरू हो सकती है बातचीत

नई दिल्ली:  भारत-पाकिस्तान के बीच सिंधु जल संधि पर रुकी बातचीत एकबार फिर शुरू हो सकती है। खबर है कि मार्च के अंत में दोनों देशों के बीच बातचीत होगी।

भारत-पाकिस्तान के बीच सितंबर 2016 में हुए उरी हमले के बाद से बातचीत रुकी है। सिंधु जल संधि पर बैठक का एजेंडा नियमों के अनुसार मेजबान पाकिस्तान तय करेगा। इसके लिए 1960 में परमानेंट इंडस कमिशन बनाया गया था।

एक अधिकारी ने बताया कि कमिशन की मीटिंग प्रत्येक वित्तीय वर्ष में होती है। परमानेंट इंडस कमिशन में भारत और पाकिस्तान के अधिकारी और विशेषज्ञ शामिल हैं।  सूत्रों ने बताया की सिंधु जल संधि पर बातचीत से दोनों देशों के बीच संबंधों में आई कड़वाहट को दूर किया जा सकता है।

सिंधु जल संधि पर बातचीत के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और नवाज शरीफ के बीच 7-8 जून को कजाकिस्तान में शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन समिट के दौरान बैठक का रास्ता भी खुल सकता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल सिंधु जल संधि पर भारत के रुख पर कहा था कि पानी और खून एक साथ नहीं बह सकते।

पिछले दिनों यूनाइटेड नेशंस डिवेलपमेंट प्रोग्राम की रिपोर्ट में पाकिस्तान पर सीमा पार पानी से जुड़े मुद्दों का हल करने में लापरवाही बरतने और भारत के साथ विवाद के मामलों को कमिशन के सामने पेश करने में देरी करने का आरोप लगाया गया था।

Leave a Reply