मुरली मनोहर जोशी ने प्रयागराज स्थित अपना बंगला बेचा

मुरली मनोहर जोशी ने कहा आज निडर नेतृत्व की जरूरत है

प्रयागराज : वरिष्ठ भाजपा नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ मुरली मनोहर जोशी ने प्रयागराज स्थित अपना बंगला बेचा दिया है. उन्होंने यह बंगला ६ करोड़ में बेचा. इसके साथ ही जोशी प्रयागराज से पूरी तरह से नाता खत्म करने पर भावुक नजर आए.

मुरली मनोहर जोशी ने यह बंगला चार हिस्सों में बेचा है. उन्होंने यह बंगला 5 करोड़ 70 लाख में अपने पड़ोसी चिकित्सक डॉ. आनंद मिश्रा और उनके भाई अनुपम मिश्रा के साथ ही दो अन्य लोगों के हाथों बेच दिया है. जिसकी रजिस्ट्री बुधवार शाम उनके बंगले अंगीरस में ही हुई. छह दशक पुराने बंगले को खरीदने वाले डॉ. आनंद मिश्रा इस बंगले से अपनी बचपन की यादें जुड़ी बताते हैं. दूसरी तरफ डॉक्टर जोशी प्रयागराज से पूरी तरह से नाता खत्म करने पर भावुक नजर आए.

जोशी का यह बंगला जिसका नाम अंगीरस है उनके राजनीतिक सफर का गवाह भी रहा है. यह बंगला राम मंदिर आंदोलन के दौरान बीजेपी की राजनीतिक गतिविधियों का केंद्र भी रहा है. इसके साथ ही जोशी के चुनाव संचालन का भी केंद्र हुआ करता था. यहीं से चुनावी रणनीति बनाकर उन्होंने 1996, 1998 और 1999 में इलाहाबाद संसदीय सीट से चुनाव लड़ा और जीत हासिल की. इस बंगले में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी, भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, भैरोंसिंह शेखावत, कल्याण सिंह और राजनाथ के साथ कई दिग्गजों का आना जाना था. भारत रत्न नानाजी देशमुख भी जब प्रयागराज आते तो इसी बंगले में रुकते थे.

बता दें कि पिछले कुछ सालों से डॉ. जोशी का प्रयागराज आना-जाना बहुत कम हो गया था. उप निबंधक, वरिष्ठ लिपिक और कनिष्ठ लिपिक की मौजूदगी में बुधवार शाम बंगले का सौदा हुआ. उप निबंधक कमला देवी ने बताया कि डाक्टर जोशी रजिस्ट्रार कार्यालय आने में असमर्थ थे जिसका प्रमाण पत्र सीएमओ द्वारा दिया गया. घर पर रजिस्ट्री कराने का 5000 रुपये कमीशन भी दिया गया, जिसके उपरांत डाक्टर जोशी के मकान पर रजिस्ट्री की सुविधा मुहैया कराई गई. उन्होंने बताया कि टैगोर टाउन स्थित बंगला नंबर 10-ए जिसका क्षेत्रफल 573 वर्गमीटर है.