मोदी की तसवीर के साथ दुर्व्यवहार के मुद्दे पर नहीं चली बिहार विधानसभा

पटना : बिहार में नीतीश कुमार सरकार में शामिल मंत्री हाजी अब्दुल जलील मस्तान का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तसवीर के साथ किये गये व्यवहार का मामला तूल पकड़ गया है. वरिष्ठ भाजपा नेता सुशील मोदी ने आज विधानसभा परिसर में कहा कि जबतक नीतीश कुमार दोषी मंत्री को बरखास्त नहीं करते हैं तब तक हम सदन नहीं चलने देंगे. सुशील मोदी ने कहा कि नीतीश के सिर्फ भर्त्सना कर देने से नहीं चलेगा. मालूम हो कि आज नीतीश ने भी मस्तान के विवादित बयान व कृत्य की निंदा की है.

उधर, विपक्ष के नेता प्रेम कुमार ने आज विधानसभा में कहा कि सरकार के मंत्री अब्दुल जलील मस्तान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तसवीर के साथ किया गया व्यवहार निंदनीय है. उन्होंने कहा कि मस्तान ने प्रधानमंत्री मोदी के बारे में कई अपशब्द कहे. उन्हें नक्सली, डकैत और उग्रवादी बताया. साथ ही उनकी तसवीर को चप्पल-जूते से मारा गया था. मालूम हो कि इस संबंध में कल एक वीडियाे सामने आया था. उधर, मस्तान ने आज मीडिया के समक्ष सदन के बाहर इस पर खेद जताया. उन्होंने कहा कि किसी को ठेंस पहुंची है तो सॉरी बोलता हूं.  विपक्ष के हंगामे के कारण विधानसभा की कार्यवाही दो बार स्थगित की गयी.

हालांकि इसके बाद भी सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद शोर व हंगामा होता रहा. इस कारण दोपहर में सदन की कार्यवाही आज दिन भर के लिए स्थगित कर दी गयी. विधान परिषद की कार्यवाही भी कल तक के लिए स्थगित कर दी गयी. उधर, जनता दल यूनाइटेड के नेता नीरज कुमार ने कहा कि जिस व्यक्ति पर आरोप लगा उसको भी अपनी बात रखने का हक है. सहमत होना या असहमत होना यह विपक्ष का अधिकार है. लेकिन, इस बीच जिस तरह टेबल पटके गये, रिपोर्टर के साथ धक्का-मुक्की हुई, वह कार्य संचालन नियमावली के खिलाफ है और संसदीय लोकतंत्र के प्रति अनादर का सूचक है.

इससे पहले सुबह में भाजपा ने कहा है कि जबतक मंत्री को बरखास्त नहीं किया जायेगा, सदन नहीं चलने दिया जायेगा.  उधर, जनता दल यूनाइटेड के वरिष्ठ नेता श्याम रजक ने कहा कि यह क्रिया के विपरीत प्रतिक्रिया है. उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री के लोग जिस तरह का बयान दे रहे हैं, कह रहे हैं कि इस देश में मुसलिमों के कब्रिस्तान के लिए जगह नहीं है, रोहित बेमुला की मौत हो गयी, उसी के खिलाफ यह प्रतिक्रिया है. वहीं,  जदयू के एक दूसरे नेता संजय सिंह ने इस व्यवहार को गलत व अमर्यादित बताया.

Leave a Reply