विराट ने वो खेल दिखाया जो सचिन कभी नहीं दिखा सके: गांगुली

पुणे : पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने भरोसा जताया कि भारतीय क्रिकेट टीम ऑस्ट्रेलिया के हाथों पहले टेस्ट में मिली शर्मनाक हार से वापसी करेगी. उन्होंने कहा कि विराट की टीम के पास सीरीज जीतने के लिये बल्लेबाज और गेंदबाज मौजूद हैं.

टीम इंडिया की तारीफ करते हुए गांगुली ने कहा कहा कि पिछले 10 महीनों में भारतीय टीम शानदार रही है, सब मैच जीत रही है लेकिन, उन्हें वापसी करनी होगी और अच्छा खेलना होगा. आप भी घरेलू मैदान पर हारते हो और कई टीमें भी ऐसे हार चुकी हैं. यह पहली बार नहीं हुआ है और आपको सिर्फ ब्रेक लेकर बेंगलूर में वापसी करनी होगी.

उन्होंने एक टीवी चैनल से बातचीत में कहा कि भारत को चिंता करने की जरूरत नहीं है. चार टेस्ट मैचों की सीरीज लंबी श्रृंखला है. मुझे लगता है कि रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा ऐसा करेंगे. उमेश यादव ने पुणे में शानदार गेंदबाजी की. मैंने उसे टेस्ट मैच में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी करते हुए देखा. भारत के पास टीम है और खुद पर भरोसा ही मायने रखता है. भारत को डीआरएस बेहतर तरीके से इस्तेमाल करने की जरूरत है.

कोहली की असफलता पर बोले- वह भी इंसान है

पुणे में पहले टेस्ट में कप्तान विराट कोहली की असफलता के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि वह (कोहली) भी इंसान है और वह भी एक दिन विफल हो सकता है. वह पुणे में दोनों पारियों में विफल हो गया. मुझे लगता है कि वह पहली पारी में ऑफ स्टंप के बाहर थोड़ा लूज ऑट खेल गया. दूसरी पारी में मुझे लगता है कि गेम खत्म हो गया था. 441 रन का लक्ष्य बहुत बड़ा स्कोर होता है.

‘मैंने तेंदुलकर को ऐसा खेलते कभी नहीं देखा’

गांगुली ने कहा कि कोहली वापसी करेगा. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उसका रिकार्ड अद्भुत है. ऑस्ट्रेलिया में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लगातार चार टेस्ट मैचों में शतक जड़ते हुए शानदार खेल दिखाया था. मैंने सचिन तेंदुलकर को ऐसा खेलते कभी नहीं देखा है. ऑस्ट्रेलिया के दूसरे दौरे पर हर स्टेडियम में चार टेस्ट शतक जड़ना सचमुच काफी विशेष प्रयास है.

गांगुली ने की कोहली की कप्तानी की प्रशंसा

गांगुली ने कोहली की कप्तानी की प्रशंसा करते हुए कहा कि पुणे में मैच के बाद विराट ने जो प्रेस कांफ्रेंस की, मुझे वह बहुत पसंद आयी. वह कुछ भी छिपाने की कोशिश नहीं कर रहा था. यह सिर्फ ऐसा था कि हमने अच्छी बल्लेबाजी नहीं की और इसलिये हम टेस्ट मैच हार गये. साथ ही उसने यह भी कहा कि यह एक ही टेस्ट था और मैं भी इसी में विश्वास करता हूं. उन्होंने कहा कि कोहली की नेतृत्व क्षमता शानदार है. मुझे उसकी कप्तानी पर पूरा भरोसा है. वह ईमानदार है जो काफी अहम है और टीम को उसका संदेश बहुत स्पष्ट है.

खराब पिच पर भी बोले गांगुली

गांगुली ने पुणे पिच के बारे में कहा कि जब आप पुणे जैसी पिच बनाते हो और मैं जानता हूं कि क्यूरेटर भी खुश नहीं था, तब आप औसत गेंदबाज को एक मौका देते हो और मैं स्टीवन ओकीफे को कमतर करके नहीं आंक रहा हूं. लेकिन, वह ऐसा विकेट लेने वाला गेंदबाज बन गया जो वह सामान्य तौर पर बल्लेबाजी पिच पर नहीं होता. भारत को अच्छी पिचें बनाने की जरूरत है, टेस्ट मैच को चौथे दिन तक पहुंचाये और इसे आगे बढ़ाये.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *