चिटफंड कंपनियों से पैसा वसूला जा रहा है तो भाजपा को पीड़ा क्यों? — धनंजय सिंह

Last Updated on

चिटफंड कंपनियों में भाजपा सरकार और भाजपा नेताओं की भूमिका गेरेंटर की तरह थी,

अब चिटफंड को घोटालेबाजो को बचाने भाजपा ढाल बन रही है!

 रायपुर — चिटफंड कंपनियो से पैसा वसूलने में भाजपा को हो रही पीड़ा पर तंज कसते हुये प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि चिटफंड कंपनियों में निवेश कराने में भाजपा की सत्ता और संगठन की नेताओ की भूमिका गारेंटर की तरह थी आज जब मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार चिटफंड कम्पनियों से निवेशकों की पैसा वसूल रही है, चिटफंड घोटालेबाजो पर कार्यवाही कर रही है तब भाजपा घोटालेबाजो को बचाने ढाल बन रही है। भाजपा चिटफंड कंपनियों में डूबे गरीब जनता की पैसो की वसूली पर रोड़ा क्यो अटका रही है? पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह उनकी पत्नी, पुत्र एवं मंत्रियों के रिश्तेदारों, भाजपा नेताओं के करकमलों से शुरू हुई चिटफंड कंपनियों ने छत्तीसगढ़ के एक करोड़ निवेशकों के हजारों करोड़ रुपया लेकर चपत हो गये।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने पूछा है कि चिटफंड कंपनियों के घोटाले के लिये जिम्मेदार भाजपा नेताओं पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी कार्यवाही क्यों नही कर रहे है? भाजपा सरकार और संगठन के लोगो की चिटफंड कंपनियों में महत्ती भूमिका देखकर राज्य का गरीब, मजदूर, किसान, गृहणी, चायवाला, पान दूकान, रिक्शा ठेला, सब्जी, दूध वाले सहित युवाओ ने विश्वास के साथ निवेश किया था। चिटफंड कंपनियों ने जनता की गाढ़ी कमाई जमा कराकर हजारों करोड़ का घोटाला किया। चिटफंड कंपनियों के घोटाले के सदमे से कई निवेशक आत्महत्या कर लिए और कई अभिकर्ताओं की हत्या तक हुई। पूर्व की रमन सरकार के संरक्षण में चिटफंड कम्पनियां फलती फूलती रही और घोटाले कर फरार भी हुई।

0 Comments on “चिटफंड कंपनियों से पैसा वसूला जा रहा है तो भाजपा को पीड़ा क्यों? — धनंजय सिंह”

Leave a Reply