गेड़ी में नहीं चढ़ने वाले भाजपा के नेता हरेली पर सवाल उठा रहे

रायपुर : भाजपा सरकार के स्वास्थ्य मंत्री अजय चंद्राकर द्वारा लगातार हरेली, तीजा, मां करमा जयंती, विश्व आदिवासी दिवस और छठ की छुट्टियों को लेकर कांग्रेस सरकार एवं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के विरोध पर कड़ी आपत्ति दर्ज करते हुये प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने पूछा है कि

1 भाजपा को छत्तीसगढ़ से छत्तीसगढ़ की संस्कृति, तीज-त्यौहार से इतनी एलर्जी क्यों हैं?

2 हरेली में कर्जमुक्त हो चुके और धान का 2500 रू. मूल्य प्राप्त कर रहे किसानों को खुशियां मनाना अजय चंद्राकर जी और भाजपा को इतना नागवार क्यों गुजर रहा है?
किसान अपने नागर-जूड़ा, रापा-कुदरी, हँसिया-टंगिया, बसूला-बिंधना सभी औजार उपकरण को धोकर पूजा करके चीला अउ सोहारी चढ़ाते हैं।
गरुवा को पिसान और नमक की लोंदी खिलाते हैं।
घर-घर जा के दुआरी में दशमुर और नीम के डंगाली खोंचते हैं।
इसी हरेली को पूरे छत्तीसगढ़ ने एक साथ मना लिया तो इससे अजय चंद्राकर और भाजपा को क्या परेशानी है और क्यों परेशानी है ?

3 छत्तीसगढ़ में महिलायें लगातार आगे बढ़ रही है। शासकीय नौकरियों में भी महिलायें बड़ी संख्या में है। तीजा के दिन तीजहारिनों को और खासकर शासकीय सेवारत तीजहारिनों को छृट्टी मिलने में अजय चंद्राकर जी और भाजपा को क्या परेशानी है?

4 मां करमा जयंती और विश्व आदिवासी दिवस पर छुट्टी का समाज के सभी वर्गो ने और खासकर साहू समाज और आदिवासी समाज ने स्वागत किया है। साहू समाज के तो राष्ट्रीय अध्यक्ष जयदत्त क्षीरसागर ने इसका स्वागत किया है। इसमें अजय चंद्राकर को क्या परेशानी है?

5 छट अपनी संतानों के लिये माताओं के लिये मनाये जाने वाला पर्व है। तीजा और छट पर छुट्टी का अजय चंद्राकर जी द्वारा विरोध क्या अजय चंद्राकर जी और भाजपा के महिला विरोधी रवैये का जीताजागता सबूत नहीं है?

Leave a Reply