भोरमदेव कांवर पदयात्रा समिति द्वारा किया गया जलाभिषेक

रायपुर : भोरमदेव कांवर पदयात्रा समिति द्वारा हर साल की तरह इस साल भी थानखम्हरिया के मुख्य मार्ग जयस्तंभ चौक होते हुए पवित्र नर्मदा कुंड कुटीधाम भोरमदेव मंदिर तक 55 किलोमीटर की पदयात्रा कर कांवरियों का जत्था सामूहिक रूप से बाबा भोलेनाथ का जलाभिषेक करेंगे। इस सामूहिक पदयात्रा के जत्थे में लगभग दस हजार लोग उपस्थित है।

इस कांवर यात्रा के संयोजक बसंत अग्रवाल ने बताया कि यह आयोजन मध्य भारत का सबसे बड़ा आयोजन है। इसमे सभी प्रकार के लोग शामिल होते है । जिसमें भगवान शिव के भक्तों की संख्या हजारों में होती है, साथ ही बसंत अग्रवाल ने थानखम्हरिया के दिग्गजों को याद करते हुए कहा कि मैं सलाम करता हु उन दिग्गजों को जिन्होंने थानखम्हरिया के इस परंपरा को बनाये रखा है । इस दौरान अग्रवाल के आंख नम हो गए

यह भी पढ़े : भोरमदेव कावड़ यात्रा 11 अगस्त को

कावरियों के साथ साथ इस यात्रा में निकली झाँकियाँ भी आकर्षण का केंद्र हैं। यात्रा के दौरान प्रसादी , रहने की व्यवस्था सहित उनकी सेवा की जिम्मेदारी भी समिति निःशुल्क वहन रहता है । हर वर्ष भक्तों की संख्या स्वस्फूर्त भगवान भोलेनाथ की कृपा से बढती जा रही है । भक्तों का मानना है कि इस कांवर यात्रा में शामिल होने और सच्चे मन से मन्नत मांगने से भोलेनाथ भक्तों का दुख हर लेते है और मन्नत भी पूरी करते हैं ।

Leave a Reply