रांची : गृह विभाग ने जैप की और चार बटालियन के गठन का प्रस्ताव मुख्यमंत्री सचिवालय को भेज दिया है. नयी बटालियन का नाम जैप-12, जैप-13, जैप-14 व जैप-15 होगा. मुख्यमंत्री की सहमति के बाद इन चारों बटालियन के गठन का प्रस्ताव कैबिनेट में भेजा जायेगा.

अभी एक महिला बटालियन समेत जैप की 10 बटालियन है. दुमका में 11वीं बटालियन के गठन का प्रस्ताव पिछले साल भेजा गया था. जो अब भी लंबित है. जानकारी के मुताबिक इन चारों बटालियन के जवानों को सिर्फ अदालतों की सुरक्षा में तैनात किया जायेगा. इसमें हाइकोर्ट के साथ-साथ राज्य के सभी जिलों की अदालतें शामिल हैं.
हजारीबाग कोर्ट परिसर में गैंगस्टर सुशील श्रीवास्तव की हत्या के के बाद अदालतों की सुरक्षा के लिए अलग से फोर्स देने की बात वर्ष 2015 में पुलिस मुख्यालय ने कही थी, लेकिन इस पर कार्रवाई नहीं हो सकी. इसी बीच पिछले साल जमशेदपुर सिविल कोर्ट परिसर में उपेंद्र राय की हत्या कर दी गयी. इस घटना के बाद हाइकोर्ट ने अदालतों की सुरक्षा के बारे में पुलिस विभाग से उसकी तैयारी की जानकारी ली थी. इसी दौरान कोर्ट ने अलग से फोर्स देने का निर्देश मुख्यालय को दिया था.