वॉशिंगटन:भारतीय मूल के अमेरिकी अटॉर्नी प्रीत भरारा को ट्रंप प्रशासन ने बर्खास्त कर दिया. उन्होंने ओबामा प्रशासन के दौरान नियुक्त किए गए 46 अधिवक्ताओं (अटॉर्नी) से इस्तीफे मांगने के आदेश के बाद अपना पद छोड़ने से इनकार कर दिया था जिसके बाद ट्रंप प्रशासन ने यह कदम उठाया.

भरारा ने सदर्न डिस्ट्रिक्ट ऑफ न्यू-यॉर्क के अपने अधिकार क्षेत्र का जिक्र करते हुए ट्वीट किया कि मैंने इस्तीफा नहीं दिया. कुछ क्षणों पहले मुझे बर्खास्त कर दिया गया. एसडीएनवाई का अमेरिकी अटॉर्नी होना मेरे पेशेवर जीवन का सबसे बड़ा सम्मान रहेगा. 48 साल के भरारा से कार्यवाहक डिप्टी अटॉर्नी जनरल ने 10 मार्च को तत्काल इस्तीफा देने को कहा था.

भरारा ने नवंबर में ट्रंप की चुनावी जीत के बाद उनसे मुलाकात की थी. इस मुलाकात के बाद मीडिया में आई खबरों में कहा गया था कि ट्रंप ने भरारा को उनके पद पर बने रहने को कहा है. सीएनएन ने न्यू-यॉर्क के सीनेटर चार्ल्स शूमर के बयान का जिक्र करते हुए कहा कि शूमर अमेरिकी अधिवक्ताओं से, खासतौर पर भरारा से, इस्तीफे के लिए किए गए अनुरोधों की खबरों को सुनकर ‘व्यथित’ हैं.

उन्होंने कहा है कि राष्ट्रपति ने मुझे नवंबर में फोन किया था और आश्वासन दिया था कि वह चाहते हैं कि भरारा सदर्न डिस्ट्रिक्ट के लिए अमेरिकी अटॉर्नी पद पर बने रहें।’’