रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज शाम राजनांदगांव जिला मुख्यालय में आयोजित विशाल आध्यात्मिक धर्मसभा में शामिल हुए। उन्होंने स्थानीय उदयाचल परिसर में आयोजित इस धर्मसभा में गोर्वधन मठ पुरी के पीठाधीश्वर महाराज जगदगुरू शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती को नमन कर उनसे छŸाीसगढ़ के विकास और सुख-समृद्धि के लिए आशीर्वाद ग्रहण किया। उन्होनें इस धर्मसभा में पूजा-अर्चना की। इस अवसर पर आयोजन समिति धर्म संघ पीठ परिषद के संयोजक श्री नीलू शर्मा ने जगदगुरू शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती जी और मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का स्वागत किया। यह आध्यात्मिक धर्मसभा 17 मार्च तक आयोजित की गई है।
धर्मसभा के शुभारंभ अवसर पर डॉ. रमन सिंह ने कहा कि छŸाीसगढ़ में बलरामपुर से लेकर बस्तर तक राम नाम का प्रवाह है। प्राचीन कौशल्या नगरी से लेकर दंडकारण्य तक भगवान श्री राम ने छŸाीसगढ़ की धरती को अपने पावन चरणों से समृद्धि प्रदान की है। डॉ. रमन सिंह ने पुरी के पीठाधीश्वर महाराज जगदगुरू शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती के राजनांदगांव प्रवास को सौभाग्यशाली क्षण बताते हुए पूरे छŸाीसगढ़ की ओर से स्वामी जी का स्वागत किया। डॉ. रमन सिंह ने कहा कि तीन दिन की इस धर्मसभा में स्वामी जी के द्वारा सहजता और सरलता के साथ वेद, उपनिषदों और विज्ञान का आध्यात्मिक ज्ञान श्रद्धालुओं को मिल सकेगा। उन्होनें कहा कि कठिन विषयों से लेकर वैदिक गणित तक की जानकारी सरल भाषा में स्वामी जी के द्वारा लोगों को मिलेगी, जिसे अपने जीवन में उतारकर आम आदमी भी आध्यात्मिक सुख और शांति का अनुभव कर सकता है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि संतों के अशीर्वाद से ही छŸाीसगढ़ का निर्माण हुआ है। संतों की कृपा से प्रदेश के सभी लोग सुखी और खुशहाल हैं। पूज्य संतों का छŸाीसगढ़ और छŸाीसगढ़ की जनता पर विशेष आशीर्वाद हैं। इसीलिए छŸाीसगढ़ में हमेशा ही ऐसे पावन और पुण्य आयोजन होते रहते है। मुख्यमंत्री ने कहा कि संतों के पावन चरणों से और उनकी पुण्यवाणी-प्रवचनों से छŸाीसगढ़ का वातावरण और यहां के निवासियों का मन-मस्तिष्क पवित्र होता रहता है। संतों के आशीर्वाद से छŸाीसगढ़ जनकल्याण के क्षेत्र में अपनी विशिष्ठ पहचान बना रहा हैं। मुख्यमंत्री ने इस आयोजन के लिए राजनांदगांव वासियों के उत्साह, लगन और सक्रियता की भी प्रशंसा की और आयोजन समिति को अपनी बधाई तथा शुभकामनाएं भी दी। इस अवसर पर बीस सूत्रीय कार्यक्रम क्रियान्वयन समिति के उपाध्यक्ष श्री खूबचंद पारख, महापौर श्री मधुसूदन यादव, पूर्व सांसद श्री अशोक शर्मा, राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के पूर्व अध्यक्ष श्री दिलीप सिंह होरा, छŸाीसगढ़ राज्य खाद्य आपूर्ति निगम के पूर्व अध्यक्ष श्री लीलाराम भोजवानी, छŸाीसगढ़ राज्य अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष श्री रामजी भारती, छŸाीसगढ ऱाय उर्दू अकादमी के अध्यक्ष श्री अकरम कुरैशी, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के अध्यक्ष श्री सचिन बघेल, राज्य महिला आयोग की सदस्य डॉ. रेखा मेश्राम सहित विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी और बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे।