जे.सी.आई. रायपुर फेमिना सिटी के “जेसी वीक”का शानदार तीसरा दिन,विद्यर्थियों ने लैंगिक समानता पर रखे अपने विचार

रायपुर। ”यत्र नार्यस्त पूजयन्ते रमन्ते तत्र देवता” अर्थात् वहीं नारियों की पूजा होती है जहाँ देवताओं का निवास होता है। भारत में सदैव ही नारी को देवी का दर्जा दिया गया है। परंतु आज भी यह बात हर जगह लागू नहीं होती। लैंगिक असमानता आज एक ज्वलंत विषय है। इसी विषय को जेसीआई फेमिना सिटी ने अपने जेसी वीक के तीसरे दिन का विषय चुना। अध्यक्ष श्रीमति स्मिता जैन ने बताया कि हमने इस विषय पर वाद-विवाद के लिए विद्यालय के विद्यार्थियों को इसलिए चुना क्योंकि ये विद्यार्थी हमारे भावी नागरिक हैं तो इनके विचार जानना अतिआवश्यक है। हम यह जानना चाहते थे कि इस विषय पर उनकी क्या सोच है? और हमें बेहद ही अच्छे और आश्चर्यजनक परिणाम मिले, हमें जानकर खुशी हुई कि हमारे विद्यार्थी कितने जागरूक हैं। कार्यक्रम में 300 से अधिक विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया तथा सभी ने मिलकर सामूहिक लोकनृत्य प्रस्तुत किया जिसमें जेसीआई के सदस्य भी मिलकर झूमे। कार्यक्रम की अध्यक्षता श्रीमती स्मिता जैन ने की। मुख्य अतिथि के रूप में श्री राजेश गरोडे, विशेष अतिथि के रूप में जेड.वी.पी. रवि गर्ग एवं श्री हरीश देवाँगन उपस्थित रहे। भरत देवांगन शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय खरोरा में लैंगिक समानता विषय पर वाद विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।प्रतियोगिता में पूजा साहू,अनिमेष दीवान, हर्षा वर्मा,अमन दाहिया, सतबती कुर्रे, आशुतोष निषाद, दिशा देवांगन, चेतन देवांगन ने अपने विचारों की प्रभावी प्रस्तुति दी। इस प्रतियोगिता में प्रथम आशुतोष निषाद, द्वितीय पूजा साहू तथा तृतीय स्थान पर हर्षा वर्मा रही।विद्यालय परिवार से प्राचार्य रजनी मिंज, रीश देवांगन व्याख्याता पी देवांगन, आर के वर्मा,शाहिना परवीन, गीतांजली पान सहित विद्यालय के समस्त सदस्य व छात्र छात्रायें उपस्थित थे।
कार्यक्रम में मुख्य रूप से श्रीमती स्मिता जैन, कीर्ति वासवानी,ममता अग्रवाल, निधी पाण्डे, कीर्ति देवांगन, ज्योत्सना अग्रवाल,मेरी फ्रांसीस, अनीता साकरे, रश्मि जैन,, अंजली अग्रवाल, सीमा कटंकार, बॉबी जैन , लखविंदर कौर, प्रीति देवांगन, आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply