भाजपा के बजाय अपने भरभराते संगठनात्मक ढाँचे की फ़िक्र करें कांग्रेस नेता:श्रीचंद सुंदरानी

एक परिवार से बाहर नेता तलाशने में हाँफने लगती है कांग्रेस
 कांग्रेस प्रवक्ता के बयान पर भाजपा का पलटवार
रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता व पूर्व विधायक श्रीचंद सुंदरानी ने भाजपा के सदस्यता अभियान पर कांग्रेस की टिप्पणी को बेवजह और झूठ का पुलिंदा बताया है। श्री सुंदरानी ने कांग्रेस नेताओं को भाजपा के बजाय अपने भरभराते संगठनात्मक ढांचे की फ़िक्र करने की नसीहत दी है।
भाजपा प्रवक्ता व पूर्व विधायक श्री सुंदरानी ने कहा कि जिस कांग्रेस का समूचा राजनीतिक इतिहास और संगठनात्मक ढांचा फर्जीवाड़े पर टिका है और एक ही परिवार की चरणवंदना जिस संगठन की पहचान बन गई है, वे भाजपा के संगठनात्मक ढांचे और सदस्यता अभियान पर टिप्पणी करते हुए जरा भी शर्म अनुभव नहीं कर रहे हैं, यह हैरत की बात है। भाजपा का सदस्यता अभियान जितनी पारखी निगाहों से गुजरकर पूरी प्रामाणिकता के साथ पूर्ण हुआ है और उसकी सदस्य संख्या में आशाजनक इजाफा हुआ है, वस्तुतः कांग्रेस के नेताओं को यह खटक रहा है। नौ माह की अपनी कारगुजारियों से कांग्रेस की सरकार ने अपनी विश्वसनीयता जिस तेजी से खोई है, उसका एक नतीजा लोकसभा चुनाव में कांग्रेस भोग चुकी है और अब दंतेवाड़ा उपचुनाव व नगरीय निकाय चुनावों में भी उसे अपनी राजनीतिक हैसियत आईने में साफ नजर आ जाएगी।
श्री सुंदरानी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में भाजपा ने न केवल प्रामाणिकता के साथ शासन चलाया, अपितु अपने संगठन के धरातल को विस्तारित करने का काम भी अपने पराक्रमी और पुरुषार्थी कार्यकर्ताओं के बल पर किया है, और अब वह पूर्ण लोकतांत्रिक रीति से संगठन चुनाव कराने की ओर अग्रसर है। कांग्रेस के नेता शर्मिंदा हो रहे हैं कि वे अपने लिए एक परिवार के अलावा और कोई अध्यक्ष तक तलाशते हुए हांफने लग जाते हैं, जबकि भाजपा लोगों तक पहुंच कर अपने प्रति आम लोगों का समर्थन अर्जित कर रही है।

Leave a Reply